ममता बनर्जी बोलीं, 'केंद्रीय बलों की वर्दी पहनकर बंगाल में घुस रहे हैं BJP और RSS के लोग'

ममता बनर्जी ने एक रैली में कहा कि मैं केंद्रीय बलों का अपमान नहीं कर रही. लेकिन उन्हें मतदाताओं को प्रभावित करने का निर्देश दिया गया है.

ममता बनर्जी बोलीं, 'केंद्रीय बलों की वर्दी पहनकर बंगाल में घुस रहे हैं BJP और RSS के लोग'
पश्चिम बंगाल में लोकसभा की आठ सीटों पर छठे चरण के तहत हो रहे चुनावों के लिए केंद्रीय बलों की करीब 770 कंपनियों को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए तैनात किया गया है.

कोलकाता: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के छठवें चरण में 7 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान जारी है. इन सबके बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने भाजपा सरकार पर मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए केंद्रीय बलों का प्रयोग करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें आशंका है कि भाजपा एवं आरएसएस के कार्यकर्ता चुनाव कराने के लिए बलों की वर्दी पहन राज्य में प्रवेश कर रहे हैं.

बनर्जी ने दक्षिण परगना जिले के बसंती इलाके में एक रैली में कहा, “मैं केंद्रीय बलों का अपमान नहीं कर रही. लेकिन उन्हें मतदाताओं को प्रभावित करने का निर्देश दिया गया है. पश्चिम बंगाल में केंद्रीय बलों की नियुक्ति करने के नाम पर भाजपा जबरन आरएसएस एवं भाजपा कार्यकर्ता को यहां भेज रही है.’’

 

 

उन्होंने कहा, “मुझे शक है कि आरएसएस कार्यकर्ताओं को (केंद्रीय बलों की) वर्दी में पश्चिम बंगाल में भेजा जा रहा है.” साथ ही बनर्जी ने कहा कि घाटल निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी भारती घोष की सुरक्षा का प्रभार संभाल रहे केंद्रीय बलों के अधिकारियों की गोलीबारी में तृणमूल कांग्रेस का एक कार्यकर्ता घायल हो गया. उन्होंने कहा, “आज केंद्रीय बलों ने एक केंद्र में गोली चलाई. मैंने सुना कि अल्पसंख्यक समुदाय से आने वाला मेरा एक भाई घायल हो गया.” बनर्जी ने यह भी आरोप लगाया कि केंद्रीय बलों के कर्मी कतार में खड़े मतदाताओं से भगवा पार्टी के पक्ष में वोट डालने को कह रहे थे.

बनर्जी ने कहा, “वह ऐसा कैसे कर सकते हैं. मतदाताओं को भाजपा के लिए वोट डालने के लिए कहना क्या केंद्रीय बलों का काम है. कुछ सेवानिवृत्त अधिकारियों को मोदी सरकार की तरफ से यहां मतदान कराने के लिए प्रयोग में लाया जा रहा है और उन्हें जो समझ रहा है वे वह कर रहे हैं.” उन्होंने कहा, “आपको यह करते हुए शर्म आनी चाहिए. आप यहां अपना कर्तव्य निभाने के लिए हैं. आज आप पीएम मोदी के तहत काम कर रहे हैं, कल को किसी और के तहत होंगे. तब आप क्या करेंगे.”

पश्चिम बंगाल में लोकसभा की आठ सीटों पर छठे चरण के तहत हो रहे चुनावों के लिए केंद्रीय बलों की करीब 770 कंपनियों को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए तैनात किया गया है.