close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पिता चाहते थे अखाड़ा जीते, बेटे ने राजनीति में कर दिया सबको चित, जानें मुलायम सिंह का सफर

मुलायम सिंह यादव को उनके पिता सुधर सिंह यादव पहलवान बनाना चाहते थे. मुलायम सिंह यादव ने पहलवानी में अपने राजनीतिक गुरु नत्थूसिंह को एक कुश्ती प्रतियोगिता में प्रभावित किया था. इसके बाद उन्‍हीं ने मुलायम को रजनीति की दिशा दिखाई.

पिता चाहते थे अखाड़ा जीते, बेटे ने राजनीति में कर दिया सबको चित, जानें मुलायम सिंह का सफर
सैफई में जन्‍मे थे मुलायम सिंह यादव. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) के नतीजे 23 मई को आने वाले हैं. इनमें इस बार कुछ बड़े नेता भी मैदान में हैं. इनमें से एक हैं सपा संस्‍थापक और मौजूदा पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव. वह इस बार पांचवीं बार यूपी की मैनपुरी सीट से चुनाव मैदान में उतरे हैं. मैनपुरी सपा का गढ़ है. सैफई में जन्‍मे मुलायम सिंह यादव के जीवन का सफर काफी दिलचस्‍प रहा है. यहां पढि़ये आखिर कैसे पहलवानी का अखाड़ा छोड़ राजनीति के अखाड़े में मुलायम सिंह बाजी मारी.

1. मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवम्बर, 1939 को इटावा जिले के गांव सैफई में हुआ था. मुलायम सिंह यादव अपने पांच भाई-बहनों में रतनसिंह यादव से छोटे और अभयराम सिंह यादव, शिवपाल सिंह यादव, रामगोपाल सिंह यादव और कमला देवी से बड़े हैं.

2. राजनीति में आने से पूर्व मुलायम सिंह यादव आगरा विश्वविद्यालय से एमए और जैन इंटर कालेज करहल (मैनपुरी) से बीटी करने के बाद कुछ दिनों तक कालेज में शिक्षण कार्य भी कर चुके हैं. मुलायम सिंह यादव को उनके पिता सुधर सिंह यादव पहलवान बनाना चाहते थे. मुलायम सिंह यादव ने पहलवानी में अपने राजनीतिक गुरु नत्थूसिंह को एक कुश्ती प्रतियोगिता में प्रभावित किया था. इसके बाद उन्‍हीं ने मुलायम को रजनीति की दिशा दिखाई.

 

3. नत्थूसिंह ने अपनी परंपरागत सीट जसवंतनगर से मुलायम सिंह यादव को चुनावी मैदान में उतारा था. 28 साल की उम्र में मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश विधानसभा पहुंचे थे. वो लगातार साल 1974, 1977, 1985, 1989, 1991, 1993 और 1996 में विधायक रहे. 

4. मुलायम सिंह लोकदल की टिकट पर विधायक बने थे. इसके बाद उन्‍होंने 1992 में समाजवादी पार्टी की नींव रखी. पार्टी ने प्रदेश में चार बार सरकार बनाई. मुलायम सिंह यादव तीन बार मुख्यमंत्री रहे.

5. उनके बेटे और मौजूदा सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्‍व में 2012 में यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी. 

6. मुलायम सिंह यादव 1996 में केंद्रीय राजनीति आए. उस समय कांग्रेस को हराकर संयुक्त मोर्चा ने सरकार बनाई थी. यह सरकार एचडी देवेगौडा के नेतृत्व में बनी थी. मुलायम सिंह रक्षामंत्री बनाए गए.