close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Lok sabha elections 2019: रिटायरमेंट के मूड में नहीं हैं मुरली मनोहर जोशी, कानपुर से चाहते हैं टिकट

कानपुर से बीजेपी के सांसद मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि उनकी अभी भी इच्छा है कि वह चुनाव लड़ें. इतना ही नहीं उन्होंने लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में किसी भी सीट से चुनाव लड़ने की चुनौती स्वीकारने की बात कही. 

Lok sabha elections 2019: रिटायरमेंट के मूड में नहीं हैं मुरली मनोहर जोशी, कानपुर से चाहते हैं टिकट
बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने दिल्ली स्थित आवास पर होली मनाई.

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने अपने परिवार के साथ दिल्ली में होली मनाई। कानपुर से बीजेपी के सांसद मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि उनकी अभी भी इच्छा है कि वह चुनाव लड़ें. इतना ही नहीं उन्होंने लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में किसी भी सीट से चुनाव लड़ने की चुनौती स्वीकारने की बात कही. हालांकि अंतिम फैसला उन्होंने पार्टी पर छोड़ा है.

ऑन कैमरा बातचीत करने से मुरली मनोहर जोशी ने मना किया, हालांकि मुरली मनोहर जोशी ने Zee News से ऑफ कैमरा बातचीत की। कानपुर से चुनाव लड़ने के सवाल पर मुरली मनोहर जोशी ने कहा, 'मैं चुनाव लड़ने से आज तक पीछे नहीं हटा हूं, बाकी जो पार्टी फैसला करेगी। मेरा टिकट पार्टी को तय करना है और मुझसे पहले जानकारी आपको (मीडिया) को मिलेगी.'

ज्ञात हो कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में मुरली मनोहर जोशी को वाराणसी से हटाकर कानपुर सीट से चुनाव मैदान में उतारा गया था. वाराणसी सीट से खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव लड़ा था. कानपुर के लोग कई बार ऐसे आरोप लगाते रहे हैं कि मुरली मनोहर जोशी चुनाव जीतने के बाद इलाके में कम ही मौकों पर दिखे हैं.

मालूम हो कि इस बार बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता खुद से ही ऐलान कर चुके हैं कि वह इस बार लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे. उत्तर प्रदेश में बीजेपी के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र ने कहा है कि वह इस बार लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि देवरिया सीट से जिस किसी को बीजेपी टिकट देगी वह उसका समर्थन करेंगे. 

इसी तरह झांसी से सांसद उमा भारती भी ऐलान कर चुकी हैं कि वह इस बार का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ना चाहती हैं. उमा ने सेहत और उम्र का हवाला देते हुए यह बात कही है.