close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पश्चिम बंगाल की खास सीट है उलुबेरिया, जहां पर है कम्युनिस्ट पार्टियों का कब्जा

1952 में अस्तित्व में आई इस लोकसभा सीट पर कम्युनिस्टों ने बहुत पहले ही धमक दे दी थी 1957 के ही चुनाव में यहां से फॉरवर्ड ब्लॉक ने अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी. जिसके निशान आज भी देखें जा सकते हैं.

पश्चिम बंगाल की खास सीट है उलुबेरिया, जहां पर है कम्युनिस्ट पार्टियों का कब्जा
फाइल फोटो...

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल की लोकसभा सीट उलुबेरिया सीट का नाम जितना दिलचस्प है, उतनी ही इस सीट का राजनीतिक गणित भी दिलचस्प है. 1952 में अस्तित्व में आई इस लोकसभा सीट पर कम्युनिस्टों ने बहुत पहले ही धमक दे दी थी 1957 के ही चुनाव में यहां से फॉरवर्ड ब्लॉक ने अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी. जिसके निशान आज भी देखें जा सकते हैं.

हालांकि 2014 के चुनावों में तृणमूल कांग्रेस ने जीत दर्ज की और सुल्तान अहमद सांसद बनें. उलुबेरिया लोकसभा सीट के अंतर्गत कुल सात विधानसभा सीटें आती हैं, जिनमें उलुबेरिया पूर्व, उलुबेरिया उत्तर, उलुबेरिया दक्षिण, श्यामपुर, बगनान, अमता, उदयनारायणपुर शामिल हैं.

क्या कहता है पिछले चुनावों को आंकड़ों

सीट पर अभी मौजूदा सांसद-  सुल्तान अहमद, तृणमूल कांग्रेस

2014 में जीत का अंतर-   201222 वोट

2014 में कौन दूसरे स्थान पर रहे- साबिर उद्दीन मौला, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया-मार्क्सवादी

2014 में मतदाता- 1,187174 

2014 में मतदान-    81.95 प्रतिशत

मतदान केंद्र- 1788 

महिला वोटरों की संख्या-  557334