close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019: संबलपुर लोकसभा सीट, क्या कहता है यहां का राजनीतिक इतिहास

 हालांकि इस सीट पर मुख्य लड़ाई कांग्रेस और बीजेडी के बीच रही है लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने भी यहां मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई थी.

लोकसभा चुनाव 2019: संबलपुर लोकसभा सीट, क्या कहता है यहां का राजनीतिक इतिहास
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: ओडिशा की संबलपुर लोकसभा सीट राज्य की उन सीटों में शामिल हैं जहां चौथे चरण में वोट डाले जाने हैं. हालांकि इस सीट पर मुख्य लड़ाई कांग्रेस और बीजेडी के बीच रही है लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने भी यहां मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई थी.

2014 में यहां से बीजेडी के नागेंद्र कुमार प्रधान जीते थे उन्हें 3, 58, 618 वोट हासिल हुए थे. दूसरे नंबर पर रही बीजेपी बीजेडी से ज्यादा पीछे नहीं थी. बीजेपी के सुरेश पुजारी को इस सीट से 3,28,042 वोट हासिल किए थे. कांग्रेस के अमरनाथ प्रधान तीसरे नंबर पर रहे थे.

संबलपुर लोकसभा सीट का राजनीतिक इतिहास 
1952 के चुनाव यहां से कांग्रेस को सफलता हाथ लगी थी. 1967 और 1971 में भी यहां से कांग्रेस जीती. 1977 में यह जनता दल ने जीती. इसके बाद के दो चुनावों में 1980 और 1984 में यहां से कांग्रेस को कामयाबी मिली. इसके 1989 के चुनाव में जनता दल और 1991, 1996 में कांग्रेस ने इस सीट पर कब्ज जमाया. अगले तीन चुनाव 1998, 1999, 2004 में यह सीट बीजेडी के पास रही. 2009 में लंबे समय के बाद एक फिर कांग्रेस ने इस सीट पर जीत हासिल की.