मलकाजगिरी लोकसभा सीट: देश की सबसे ज्यादा वोटरों वाली सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला

तेलंगाना की मलकाजगिरी सीट परिसीमन के बाद 2008 में पहली बार अपने अस्तित्व में आई थी. 2014 के आंकड़ों के मुताबिक मलकाजगिरी संसदीय क्षेत्र 3,183,325 वोटरों के साथ पहले स्थान पर है.

मलकाजगिरी लोकसभा सीट: देश की सबसे ज्यादा वोटरों वाली सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला
तेलंगाना सरकार की मंत्री सीएच माला रेड्डी के दामाद और टीआरएस उम्मीदवार मैरी राजशेखर रेड्डी. (फोटो:FB)

मलकाजगिरी: तेलंगाना की मलकाजगिरी (Malkajgiri) लोकसभा सीट पर तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS), तेलुगू देशम पार्टी (TDP) और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है. टीआरएस ने यहां से मैरी राजशेखर रेड्डी को चुनावी मैदान में उतारा तो कांग्रेस ने बड़े नेता रेवंत रेड्डी को लड़वाया. वहीं, बीजेपी ने रामचंद्र राव पर दांव लगाया है. इस सीट पर 11 अप्रैल को पहले चरण में मतदान हो चुका है. अब देखना यह होगा कि 23 मई को मतगणना में किस प्रत्याशी को फतह मिलेगी?

तेलंगाना सरकार की मंत्री सीएच माला रेड्डी के दामाद मैरी राजशेखर रेड्डी ने इस आम चुनाव में अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत की है. 2014 में माला रेड्डी ने मलकाजगिरी की सांसद सीट पर कब्जा किया. हालांकि, जून 2016 में सांसद माला टीडीपी का साथ छोड़ टीआरएस में शामिल हो गईं. बीते विधानसभा चुनाव में माला मेडचल से जीतकर मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के मंत्रिमंडल में महिला और बाल कल्याण मंत्री का पद पाया. कांग्रेस ने इस सीट से भारी प्रत्याशी रेवंत रेड्डी को उतारा है. वह 2018 में विधानसभा चुनाव में कोडंगल सीट हार गए थे.

तेलंगाना की मलकाजगिरी सीट परिसीमन के बाद 2008 में पहली बार अपने अस्तित्व में आई थी. 2014 के आंकड़ों के मुताबिक  मलकाजगिरी संसदीय क्षेत्र 3,183,325 वोटरों के साथ पहले स्थान पर है.

2009 में इस सीट से पहली बार कांग्रेस के सरवे सत्यनारायण सांसद चुने गए. दूसरी बार यानी 2014 के आम चुनावों में टीडीपी की माला रेड्डी ने जीत हासिल की.

2014 के आम चुनाव में मलकाजगिरी सीट से टीडीपी की माला रेड्डी ने 32.30 फीसदी यानी 5,23,336 वोट हासिल कर विजय पताका फहराई. दूसरे नंबर रहे टीआरएस के हनुमंत राव मीनामपल्ली को 30.54 प्रतिशत (4,94,965) वोट मिले थे. वहीं, कांग्रेस के सरवे सत्यनारायण 233,711 वोट पाकर तीसरे नंबर पर रहे.

मलकाजगिरी संसदीय क्षेत्र में सात विधानसभा सीट शामिल हैं. ये सीट हैं- मेडचल, मलकाजगिरी, कुतबुल्लापुर, कुकातपल्ली, उप्पल, एलबी नगर और सिकंदराबाद कैंटोनमेंट (आरक्षित).

पता हो कि तेलंगाना भारत के आंध्रप्रदेश राज्य से अलग होकर भारत का 29वां राज्य बना था. दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी हैदराबाद है. राज्य में मुख्यमंत्री के. चन्द्रशेखर राव की अगुवाई में टीआरएस पार्टी की सरकार है. इस राज्य में 119 विधानसभा सीटें और 17 लोकसभा सीटें हैं. वहीं प्रदेश में कुल जिलों की संख्या 31 है.