close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019: गांधी परिवार के सदस्‍य हैं वरुण, पर कांग्रेस नहीं, BJP अपनाई, ऐसा है सफर

हम बात कर रहे हैं इंदिरा गांधी के पुत्र संजय गांधी और बहू मेनका गांधी के बेटे वरुण गांधी की. वरुण गांधी इस बार यूपी के पीलीभीत से चुनाव मैदान में हैं. उनका राजनीतिक झुकाव मां मेनका की तरह बीजेपी की ओर ही रहा है.

लोकसभा चुनाव 2019: गांधी परिवार के सदस्‍य हैं वरुण, पर कांग्रेस नहीं, BJP अपनाई, ऐसा है सफर
पीलीभीत से चुनाव मैदान में हैं वरुण गांधी. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) के परिणाम 23 मई को आ रहे हैं. गांधी परिवार जहां कांग्रेस को फिर से देश की सत्‍ता दिलाने के प्रयास में जुटा है तो उसके एक सदस्‍य बीजेपी से चुनाव मैदान में हैं. हम बात कर रहे हैं इंदिरा गांधी के पुत्र संजय गांधी और बहू मेनका गांधी के बेटे वरुण गांधी की. वरुण गांधी इस बार यूपी के पीलीभीत से चुनाव मैदान में हैं. उनका राजनीतिक झुकाव मां मेनका की तरह बीजेपी की ओर ही रहा है.

1. वरुण गांधी का जन्म 13 मार्च 1980 को नई दिल्ली में हुआ था.

2. जून 1980 में वरुण गांधी मात्र 3 महीने के थे जब उनके पिता संजय गांधी का निधन एक विमान हादसे में हो गया था. 31 अक्‍टूबर 1984 में दादी इंदिरा गांधी की मौत के समय उनकी उम्र चार साल थी. 

3. वरुण गांधी ने दिल्ली के ऋषि वैली स्कूल, मॉडर्न स्कूल सीपी और द ब्रिटिश स्कूल से शुरुआती पढ़ाई की. उन्होंने लंदन यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में ग्रैजुएशन की डिग्री ली. लंदन से पढ़ाई के बाद वरुण ने राजनीति में आने का फैसला किया. 

4. 1999 में वरुण गांधी को उनकी मां मेनका गांधी ने पहली बार राजनीति में प्रवेश कराया. वरुण गांधी ने 1999 के चुनाव के दौरान अपनी मां मेनका गांधी के लिए पीलीभीत में चुनाव प्रचार किया था.

 

5. मेनका गांधी और वरुण गांधी पहले एनडीए का हिस्‍सा थे. लेकिन 2004 में दोनों ने औपचारिक तौर पर बीजेपी की सदस्‍यता ले ली.

6. वरुण गांधी ने 2004 के चुनावों के दौरान बीजेपी के लिए जमकर प्रचार किया. 

7. 2009 के आम चुनाव में वरुण गांधी को बीजेपी ने उनकी मां मेनका गांधी की जगह पीलीभीत से चुनाव मैदान में उतारा. पीलीभीत से वरुण गांधी ने 4.19 लाख वोट हासिल करके जीत दर्ज की और पहली बार लोकसभा पहुंचे.

8. 2013 में वरुण गांधी को बीजेपी का राष्ट्रीय महासचिव चुना गया. 2013 में वरुण को पश्चिम बंगाल बीजेपी का प्रभारी बनाया गया. 

9. 2014 के लोकसभा चुनावों में वरुण गांधी ने यूपी के सुल्तानपुर से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की.