close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गाजियाबाद लोकसभा: 2014 में BJP में शामिल हुए थे जनरल वीके सिंह, दूसरी बार हैं चुनावी मैदान में

सेना प्रमुख रह चुके वीके सिंह ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव से पहले ही भारतीय जनता पार्टी में एंट्री ली थी. साल 2014 में गाजियाबाद से बड़ी जीत हासिल करने का ईनाम वीके सिंह को केंद्र सरकार में मंत्री बनकर मिला. 

गाजियाबाद लोकसभा: 2014 में BJP में शामिल हुए थे जनरल वीके सिंह, दूसरी बार हैं चुनावी मैदान में
गाजियाबाद सीट पर चुनाव इस बार दिलचस्प होने जा रहा है.

नई दिल्ली: गाजियाबाद लोकसभा सीट पर गठन के बाद से ही भारतीय जनता पार्टी का कब्जा रहा है. इस हाईप्रोफाइल लोकसभा सीट पर पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान हो चुका है. पूर्व सेना प्रमुख और बीजेपी नेता वीके सिंह इस सीट से सांसद हैं. एक बार फिर वह गाजियाबाद के चुनावी दंगल में विपक्षियों को पटखनी देने के लिए तैयार हैं. सेना प्रमुख रह चुके वीके सिंह ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव से पहले ही भारतीय जनता पार्टी में एंट्री ली थी. बीजेपी ने भरोसा करके उन्हें गाजियाबाद से मैदान में उतारा और वह बीजेपी के भरोसे पर खरे उतरे.  

साल 2010-12 तक रहे सेना प्रमुख
2010 से लेकर 2012 तक वह सेना प्रमुख रहे, हालांकि यूपीए सरकार के आखिरी दिनों में उनकी उम्र को लेकर काफी बड़ा विवाद छिड़ा था. साल 2014 में गाजियाबाद से बड़ी जीत हासिल करने का ईनाम वीके सिंह को केंद्र सरकार में मंत्री बनकर मिला.

मुश्किल समय में निभाई अहम भूमिका
2014 से ही वह विदेश राज्य मंत्री के पद पर हैं, सीरिया-इराक जैसे देशों में मुश्किल समय में भारतीयों को निकालने में वीके सिंह ने काफी अहम भूमिका निभाई थी. मंत्री पद पर रहने के बाद वीके सिंह अपने बयानों के कारण चर्चा में रहे. एडीआर (एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स) की रिपोर्ट के मुताबिक, वीके सिंह के पास 4 करोड़ से अधिक की संपत्ति है.

लाइव टीवी देखें

त्रिकोणीय है मुकाबला
गाजियाबाद सीट पर चुनाव इस बार दिलचस्प होने जा रहा है. जनरल वीके सिंह बीजेपी की सीट पर दोबारा भाग्य आजमा रहे हैं. सपा-बसपा गठबंधन और कांग्रेस के उम्मीदवार इस चुनाव को त्रिकोणीय बना रहे हैं. चुनाव में जीत के लिए वीके सिंह ने पूरी ताकत झोंक दी है. कांग्रेस की डॉली शर्मा से उनकी टक्कर मानी जा रही है.