close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019 : वायनाड में राहुल गांधी ने तीन गांधी को पीछे छोड़ा

वायनाड की लोकसभा सीट पर राहुल गांधी के वोटरों को चकमा देने के लिए तीन गांधी और मैदान में थे.

लोकसभा चुनाव 2019 : वायनाड में राहुल गांधी ने तीन गांधी को पीछे छोड़ा
(file photo)

नई दिल्ली : पहली बार में देखने पर आपको यह हेडलाइन अजीब लग सकती है लेकिन यह सच है कि वायनाड में राहुल गांधी ने राहुल गांधी को ही पीछे छोड़ दिया है. दरअसल मामला यह है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेठी के साथ साथ वायनाड से भी लोकसभा चुनाव लड़ा और उनके सामने खड़े थे तीन गांधी जिनमें से एक का नाम ही था राहुल गांधी. 33 साल के के ई राहुल गांधी निर्दलीय खड़े थे और कोट्टायम जिले से थे. इनके अलावा 30 साल के राघुल गांधी भी वायनाड से चुनाव लड़ रहे थे और तीसरे गांधी थे के एम शिवप्रसाद गांधी जो कि चालीस साल के हैं और त्रिचुर से हैं. इस खबर के लिखे जाने तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायनाड में 12 लाख से ज्यादा वोट हासिल कर लिए हैं और रुझानों की मानें तो उनका इस सीट से जीतना लगभग तय ही है.

राहुल गांधी के बाद वायनाड में दूसरी सबसे ज्यादा सीटों पर सीपीआई के पीपी सुनीर हैं और दोनों के बीच आठ लाख वोटों का अंतर है. जहां तक बाकी के तीन गांधी की बात है तो (के ई राहुल गांधी) करीब चार हजार वोट जुटा पाए, राघुल गांधी महज़ 1500 के करीब और आईजीपी के शिवप्रसाद गांधी 600 से थोड़े से ज्यादा वोट बटोर पाए. 

'डमी कैंडीडेट'
दरअसल एक ही नाम के अलग अलग उम्मीदवारों को चुनाव में खड़ा करना एक पुरानी राजनीतिक कसरत है. 'डमी' कैंडीडेट्स के जरिए अक्सर वोटरों को भ्रमित करने की कोशिश की जाती है ताकि पोलिंग बूथ में एक ही नाम के दो लोगों को देखकर वोटर गलती से ही दूसरे उम्मीदवार को वोट दे आए. 2014 में हेमा मालिनी को मथुरा में दो और हेमा मालिनियों से सामना करना पड़ा था. यहां तक की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी एक बार गुजरात चुनाव के दौरान ऐसे ही एक डमी उम्मीदावर का सामना करना पड़ा था.

वापिस राहुल गांधी पर लौटते हैं जो अमेठी से भी चुनाव लड़ रहे थे लेकिन वहां से बीजेपी की स्मृति ईरानी उन्हें कड़ी टक्कर देती दिख रही हैं और इस खबर के लिखे जाने तक ईरानी 22 हजार वोटों से आगे चल रही हैं.