close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लखनऊ: राजनाथ ने तो भर दिया पर्चा, अब नामांकन के बचे 2 दिन, लेकिन विपक्ष के प्रत्‍याशी कहां हैं?

लखनऊ सीट को बीजेपी का गढ़ माना जाता रहा है.

लखनऊ: राजनाथ ने तो भर दिया पर्चा, अब नामांकन के बचे 2 दिन, लेकिन विपक्ष के प्रत्‍याशी कहां हैं?

लखनऊ: केंद्रीय गृह मंत्री और बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता राजनाथ सिंह ने लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) के लिए लखनऊ से अपना नामांकन भर दिया है. इस सीट से वह लगातार दूसरी बार मैदान में उतर रहे हैं. 2014 के चुनाव में उन्‍होंने इसी सीट से जीत हासिल की थी. उससे पहले 2009 के आम चुनाव में वह गाजियाबाद से चुनाव जीते थे.

लखनऊ सीट को बीजेपी का गढ़ माना जाता रहा है. कभी अटल बिहारी वाजपेयी इस सीट की नुमाइंदगी करते थे. राजनाथ सिंह के नामांकन के साथ ही अब इस सीट पर नामांकन के लिए मात्र दो दिन बचे हैं. लखनऊ सीट पर पांचवें चरण में मतदान होगा. इसके तहत 10 अप्रैल से शुरू हुए नामांकन की अंतिम तारीख 18 अप्रैल को है. लेकिन अभी तक विपक्ष की तरफ से किसी प्रत्‍याशी का नाम फाइनल नहीं हुआ है. सपा-बसपा गठबंधन और कांग्रेस ने अभी अपने प्रत्‍याशी का यहां से ऐलान नहीं किया है. छह मई को यहां मतदान होगा.

लखनऊ में शक्ति प्रदर्शन के बाद राजनाथ सिंह ने भरा नामांकन, साथ दिखे ये नेता

राजनाथ का रोड शो
राजनाथ सिंह ने नामांकन दाखिल करने से पहले लखनऊ में रोड शो किया. इस रोड शो में राजनाथ सिंह के साथ यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, कलराज मिश्र मौजूद थे. उनके साथ जेडीयू नेता केसी त्‍यागी भी मौजूद थे. राजनाथ सिंह ने नामांकन दाखिल करने के लिए शुभ मुहूर्त का चयन किया था. इस मुहूर्त के अनुसार राजनाथ सिंह 11.45 बजे जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे और 11 बजकर 50 मिनट पर नामांकन दाखिल किया.

ये नेता भी रहे मौजूद
रोड शो के दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री हंसराज अहीर, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय, पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी, मंत्री ब्रजेश पाठक, सांसद कलराज मिश्र, उत्तराखंड के पूर्व सीएम रमेश पोखरियाल निशंक सहित कई मंत्री और बीजेपी के पदाधिकारी भी मौजूद रहे.

बीजेपी का गढ़
1991 से बीजेपी लगातार लखनऊ से चुनाव जीत रही है. 1991 से लेकर 2009 तक अटल बिहारी वाजपेयी यहां से सांसद रहे. 2009 में यहां से बीजेपी नेता लालजी टंडन जीते. 2014 के आम चुनाव में राजनाथ सिंह के खिलाफ कांग्रेस ने रीता बहुगुणा जोशी को मैदान में उतारा था. राजनाथ सिंह को उस दौरान साढ़े पांच लाख से अधिक वोट मिले. रीता बहुगुणा को तकरीबन पौने तीन लाख मिले. बसपा तीसरे और सपा चौथे नंबर पर रही थी. बाद में रीता बहुगुणा ने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया था. वह इस वक्‍त सीएम योगी के मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री हैं.