close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बहुसंख्यकों को कोसने वाले अब खुद के हिंदू होने पर गर्व का दावा कर रहे हैं: अरुण जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि चुनावों के दौरान तो नास्तिक भी अपनी आस्तीन पर अपना धर्म-जाति ओढ़कर चलते हैं.

बहुसंख्यकों को कोसने वाले अब खुद के हिंदू होने पर गर्व का दावा कर रहे हैं: अरुण जेटली
वित्त मंत्री अरुण जेटली (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि हिंदुओं के पलटवार के डर से ‘बहुसंख्यकों को कोसने वाले’अब खुद के हिंदू होने पर गर्व का दावा कर रहे हैं. बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि ‘‘आखिरकार चुनाव ‘नव-परिवर्तितों’ के लिए सुविधाजनक मौसम होता है.’’ 

उन्होंने कहा कि बगैर सांप्रदायिक हुए धार्मिक मनोभाव रखने वाला आकांक्षी मध्यम वर्ग धर्मनिरपेक्षता की परिभाषा के तौर पर ‘‘बहुसंख्यकों को कोसना’’ स्वीकार नहीं करेगा. 

'जेटली ने साधा कांग्रेस पर निशाना' 
जेटली ने कहा कि चुनावों के दौरान तो नास्तिक भी अपनी आस्तीन पर अपना धर्म-जाति ओढ़कर चलते हैं. उन्होंने कहा कि कोई अपनी दादी मां की जाति अपना सकता है कि नहीं, इस व्यापक मुद्दे के विस्तार में गए बगैर कांग्रेस ने अचानक फैसला कर लिया कि वह अपने अध्यक्ष राहुल गांधी को ‘‘जनेऊ धारी ब्राह्मण’’ करार देगी.

वित्त मंत्री ने कहा, ‘उन्हें अब ‘शिव भक्त’ घोषित कर दिया गया है. वह मंदिरों में जाने का मौका नहीं गंवाते और ऐसे अवसरों को बड़े कार्यक्रम के तौर पर पेश करते हैं. 2004, 2009 या 2014 में उनका धार्मिक रुझान कभी नहीं दिखा.’ जेटली ने यह टिप्पणियां ऐसे समय में की है जब मौजूदा लोकसभा चुनाव निर्णायक मोड़ पर पहुंच चुका है.

कांग्रेस, बीएसपी, एसपी और तृणमूल कांग्रेस जैसी पार्टियां बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए पर आरोप लगाती रही हैं कि वह वोटों के लिए चुनावों का सांप्रदायीकरण करती है. उन्होंने बीजेपी पर राष्ट्रवाद के नाम पर बेरोजगारी और कृषि संकट जैसे मुद्दों को दरकिनार करने का आरोप भी लगाया है.

'दिग्विजय सिंह बहुसंख्यकों को कोसने के मामले में कुख्यात'
‘ए कन्वीनियेंट सीजन फॉर बीइंग ए प्राउड हिंदू’ शीर्षक से लिखे गए ब्लॉग में जेटली ने यह भी कहा कि भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह बहुसंख्यकों को कोसने के मामले में कुख्यात हैं.  जेटली ने कहा कि सिंह ने दावा किया था कि यूपीए सरकार के दौरान हुई बटला हाउस मुठभेड़ फर्जी है और उन्होंने आतंकवादियों के समर्थन में एवं सुरक्षा बलों के खिलाफ अभियान भी चलाया था.

बीजेपी नेता के मुताबिक, ‘‘वह (दिग्विजय सिंह) मारे गए और गिरफ्तार किए गए आतंकवादियों के परिजन से मिलने आजमगढ़ भी चले गए थे. वह ‘हिंदू आतंक’ का सिद्धांत गढ़ने का पेटेंट भी अपने पास रखते हैं. इस पूरे सिद्धांत का पर्दाफाश होने तक वह इसे अतार्किक निष्कर्ष पर ले गए. आज मतदाताओं के आक्रोश को देखकर अब उन्हें हिंदू होने पर गर्व होने लगा है.’’