लोकसभा चुनाव: मतदान की तारीखों से नाराज मौलाना फरंगी महली ने EC से की ये मांग...

रोजे के दौरान देश में आखिरी के तीन चरणों के वोट 6 मई, 12 मई और 19 मई को डाले जाएंगे, जिससे देश के करोड़ों रोजेदारों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. 

लोकसभा चुनाव: मतदान की तारीखों से नाराज मौलाना फरंगी महली ने EC से की ये मांग...
मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली की फाइल फोटो.

नई दिल्ली/लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर चुनाव आयोग के अध्यक्ष सुनील अरोड़ा ने तारीखों का ऐलान कर दिया है. सात चरणों में होंने वाले चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई के बीच तक होंगे. चुनाव की तारीखों की ऐलान होने के बाद इस्लामिक स्कालर, लखनऊ ईदगाह के इमाम और शहरकाजी मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने 6 मई से 19 मई के बीच होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है. मौलाना फरंगी महली का कहना है कि पांच मई को मुसलमानों के सबसे पवित्र महीना माने जाने वाले माहे रमजान का चांद देखा जाएगा. 

उन्होंने कहा कि अगर चांद 5 मई को दिख गया, तो रमजान 6 मई से शुरू हो जाएंगे. रोजे के दौरान देश में आखिरी के तीन चरणों के वोट 6 मई, 12 मई और 19 मई को डाले जाएंगे, जिससे देश के करोड़ों रोजेदारों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए चुनाव आयोग को इन तारीखों पर पुनर्विचार करना चाहिए. 

 

उन्होंने चुनाव आयोग से मांग की है कि वह 6, 12 और 19 मई को होने वाले मतदान की तिथि बदलने पर विचार करे. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग को देश के मुसलमानों का ख्याल रखते हुए चुनाव कार्यक्रम तय करना चाहिए था. आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने देश में सात चरण में लोकसभा चुनाव कराने की घोषणा की है. इसके तहत पहले चरण का चुनाव 11 अप्रैल को, दूसरे चरण का चुनाव 18 अप्रैल को, तीसरे चरण का चुनाव 23 अप्रैल को, चौथे चरण का 29 अप्रैल को, पांचवें चरण का 6 मई, छठे चरण का 12 मई और 7वें चरण का चुनाव 19 मई को होगा. 23 मई को लोकसभा चुनाव की मतगणना होगी.