मनोज सिन्‍हा के विवादित बोल, 'BJP कार्यकर्ता की ओर उठी अंगुली 4 घंटे भी सलामत नहीं रहेगी'

गाजीपुर में बीजेपी की ओर से आयोजित किसान मोर्चा सम्मेलन में सिन्‍हा ने कहा, 'किसी की औकात नहीं है जो बीजेपी कार्यकर्ताओं के ऊपर आंख उठाकर देखे. अगर आंख उठाकर देखा तो जमीन में दफन कर दिया जाएगा.'

मनोज सिन्‍हा के विवादित बोल, 'BJP कार्यकर्ता की ओर उठी अंगुली 4 घंटे भी सलामत नहीं रहेगी'
मनोज सिन्‍हा ने गाजीपुर में दिया विवादित बयान. फोटो ANI

नई दिल्‍ली : केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता मनोज सिन्‍हा ने गुरुवार को विवादित बयान दिया है. गाजीपुर में बीजेपी की ओर से आयोजित किसान मोर्चा सम्मेलन में सिन्‍हा ने कहा, 'बीजेपी का कार्यकर्ता अपराध, अर्जित धन और भ्रष्‍टाचार को जमींदोज करने को तैयार है. मैं कहना चाहता हूं कि अगर किसी की अंगुली बीजेपी की तरफ दिखी तो भरोसा रखिए 4 घंटे में वो अंगुली सलामत नहीं रहेगी.' उन्‍होंने यह भी कहा, 'किसी की औकात नहीं है जो बीजेपी कार्यकर्ताओं के ऊपर आंख उठाकर देखे. अगर आंख उठाकर देखा तो जमीन में दफन कर दिया जाएगा.'

सैदपुर के टाउन नेशनल इंटर कालेज मैदान में बीजेपी के किसान मोर्चा सम्मेलन में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्‍हा ने यह भी कहा, 'कोई पूर्वांचल का अपराधी, किसी की औकात नहीं है कि गाजीपुर की सीमा में आकर बीजेपी के कार्यकर्ता की तरह आंख दिखाए. अगर ऐसा हुआ तो वो आंख सलामत नहीं रहेगी.'

 

बीजेपी प्रत्याशी और रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने अपना वोट बैंक बनाने के लिए सैदपुर के टाउन नेशनल इंटर कॉलेज में विजय संकल्प किसान सम्मेलन का आयोजन किया. इसमें उन्होंने विकास कार्यों का गुणगान गाया. 19 मई को होने वाले लोकसभा चुनाव में वोट देने की उन्‍होंने किसानों से अपील की.

 

वहीं किसानों से खचाखच भरे पंडाल से अचार संहिता को नजरअंदाज करते हुए विवादित बयान देते हुए सिन्हा ने कहा कि अपराध व भ्रष्टाचार के धन से राजनीति करने वालों की खैर नहीं है. उन्हें भाजपा कार्यकर्ता टिकने नहीं देंगे. भाजपा कार्यकर्ताओं को किसी से भी डरने की आवश्यकता नहीं है. किसी भी कार्यकर्ता की तरफ कोई अंगुली उठाएगा तो वह अंगुली चार घंटे में तोड़ दी जाएगी.

खास बात यह है कि गाजीपुर में लड़ाई गठबंधन प्रत्याशी व भाजपा प्रत्याशी के बीच है. खासकर प्रदेश में सपा-बसपा में गठबंधन हो चुका है और दोनों दल एक साथ चुनाव लड़ने जा रहे हैं ऐसे में यहां भी कांटेदार लड़ाई की उम्मीद है. आपको बता दें कि गठबंधन की बसपा प्रत्याशी के ऊपर पूर्व में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं.