close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नरेंद्र मोदी ने 2014 में किया था संसद को नमन, 2019 में संविधान के सामने झुकाया सिर

बीजेपी संसदीय दल और एनडीए का नेता चुने जाने के बाद सभी बीजेपी के वरिष्‍ठ नेताओं के अलावा एनडीए के दलों के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पुष्‍प गुच्‍छ देकर स्‍वागत क‍िया

नरेंद्र मोदी ने 2014 में किया था संसद को नमन, 2019 में संविधान के सामने झुकाया सिर
लोकसभा चुनाव में बीजेपी 303 सीटें जीत चुकी है और एनडीए गठगबंधन को 350 सीटें हासिल हुई है.

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की बैठक में संसदीय दल के नेता चुने गए नरेंद्र मोदी ने सेंट्रल हॉल में मौजूद सांसदों को संबोधित किया. नरेंद्र मोदी ने एनडीए के नेताओं का आभार व्यक्त किया. उन्होंने पहली बार सांसद बनकर आए नेताओं का विशेष रूप से अभिनंदन किया. नरेंद्र मोदी ने कहा कि प्रचंड जनादेश जिम्मेदारियों को बढ़ा देता है. उन्होंने कहा कि भारत का चुनाव विश्व के लिए अजूबा है. पूरी दुनिया में भारतीयों ने इस विजय उत्सव को मनाया है. इस दौरान नरेंद्र मोदी ने 'भारत के संविधान' के सामने सिर झुकाकर अपने भाषण की शुरुआत की. 

यहां दिलचस्प बात यह है कि 2014 के आम चुनाव में जीत के बाद पहली बार संसद पहुंचे नरेंद्र मोदी ने संसद की सीढ़ियों पर अपना सिर रखकर नमन किया. 20 मई, 2014 को संसदीय इतिहास में पहली बार कुछ ऐसा हुआ जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी. नरेंद्र मोदी ने उस समय लोकतंत्र के मंदिर के द्वार पर सिर झुकाकर आशीर्वाद लिया था. वहीं, इस बार उन्होंने भारत के संविधान की सामने सिर झुकाकर आशीर्वाद लिया.

 

 

संसदीय दल की बैठक को संबोध‍ित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ये चुनाव पूरे विश्‍व के लिए एक अजूबे की तरह था. हमें मिले प्रचंड जनादेश ने ज‍िम्‍मेदारी बढ़ा दी है. देश की जनता सेवाभाव स्‍वीकार करती है. अहंकार यहां स्‍वीकार नहीं क‍िया जाता है. भारत का मतदाता सत्‍ताभाव स्‍वीकार नहीं करता. जनता ने हमें क‍िसी पार्टी के कारण नहीं सेवाभाव के कारण चुना है. पीएम मोदी ने कहा, आपने मुझे आज चुना है. ये एक व्‍यवस्‍था का हिस्‍सा है. मैं भी आपमें से एक हूं. हमें कंधे से कंधा मिलाकर चलना है. सभी सांसदों के साथ साथ और बराबर चलना है. मैं साथि‍यों के वि‍श्‍वास पर जरूर खरा उतरूंगा.

पीएम मोदी ने बैठक ने संबोध‍ित करते हुए कहा, आमतौर पर चुनाव बांटते हैं. दूर‍ियां बढ़ाते हैं. लेकि‍न 2019 के चुनाव में ऐसा नहीं है. इस चुनाव ने दीवारों को ग‍िराने का काम क‍िया है. इस बार देश भागीदार बना है. जितना हमने सरकार को चलाया, देश को बढ़ाया है, उससे ज्‍यादा देश की जनता ने देश को आगे बढ़ाया है. हर पांच साल में एंटी इन्‍कंबेंसी होती है, लेकि‍न जब व‍िश्‍वास मजबूत हो, प्रो इनकंबेंसी होती है.

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के नवनिर्वाचित सांसद एनडीए की संसदीय दल की बैठक में पहुंचे. बैठक में हिस्‍सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्‍वागत गृहमंत्री राजनाथ सिंह और बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने किया. इस बैठक में नरेंद्र मोदी को औपचारिक रूप से बीजेपी संसदीय दल का नेता चुना गया. उनके नाम का प्रस्‍ताव बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने किया. इस प्रस्‍ताव का समर्थन राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी ने किया.

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एनडीए का नेता चुना गया. उनके नाम का प्रस्‍ताव अकाली दल के मुख‍िया प्रकाश स‍िंह बादल ने क‍िया. उनके इस प्रस्‍ताव का समर्थन जेडीयू अध्‍यक्ष नीतीश कुमार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, एलजेपी प्रमुख रामव‍िलास पासवान, तम‍िलनाडु के मुख्‍यमंत्री पलानीसामी, नगालैंड के मुख्‍यमंत्री नेफ‍ियो रियो, मेघालय के सीएम काेनार्ड संगमा ने किया.

बीजेपी संसदीय दल और एनडीए का नेता चुने जाने के बाद सभी बीजेपी के वरिष्‍ठ नेताओं के अलावा एनडीए के दलों के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पुष्‍प गुच्‍छ देकर स्‍वागत क‍िया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकृष्‍ण आडवाणी, प्रकाश सिंह बादल और मुरली मनोहर जोशी के पैर छूकर आशीर्वाद लिया. बता दें कि नरेंद्र मोदी को पहले ही एनडीए का नेता घोषित किया जा चुका है. संसदीय दल की बैठक के बाद रात 8 बजे नरेंद्र मोदी सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे. एनडीए सांसदों की बैठक संसद के सेंट्रल हॉल में शाम 5 बजे होगी. 

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी 303 सीटें जीत चुकी है और एनडीए गठगबंधन को 350 सीटें हासिल हुई है. बैठक में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी समेत एनडीए के कई बड़े नेता पहुंच चुके हैं. अभिनेता से नेता बने सनी देओल, किरण खेर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को उनके गढ़ अमेठी में हराने वाली स्मृति ईरानी भी बैठक में मौजूद हैं.

इसके साथ ही एनडीए के घटक दलों के जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार, शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, एलजेपी के मुखिया रामविलास पासवान आदि मौजूद हैं. बैठक में नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, मेनका गांधी, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई बड़े नेता मौजूद हैं.