महाराष्ट्र के सियासी समीकरण बैठाने के लिए दिल्ली आएंगे शरद पवार, विपक्षी नेताओं से करेंगे बैठक

महाराष्ट्र विधानसभा में बीजेपी को जहां 105 सीटें मिली हैं, वहीं शिवसेना को 56 सीटों पर जीत मिली है. वहीं एनसीपी ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत हासिल की है. 

महाराष्ट्र के सियासी समीकरण बैठाने के लिए दिल्ली आएंगे शरद पवार, विपक्षी नेताओं से करेंगे बैठक
(फोटो साभार - DNA)

मुंबई: महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर अभी तक पेंच फंसा हैं. एक तरफ बीजेपी और शिवसेना में तकरार के चलते सीएम प्रत्याशी अभी तक फाइनल नहीं हुआ वहीं दूसरी तरफ 54 सीटें जीतने वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) पार्टी के समर्थन के लिए शिवसेना लगातार नजर बनाए हुए है. हालांकि नतीजों के बाद ही शरद पवार कह चुके हैं कि उनकी पार्टी शिवसेना को समर्थन नहीं दे सकती है. लेकिन पिछले कई दिनों से चली रही सियासी खींचतान ने शायद महाराष्ट्र के सबसे वरिष्ठ नेता को कुछ सोचने के लिए मजबूर कर दिया है. इसलिए अब खबर आ रही है कि एनसीपी के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) 3 नवंबर और 4 नवंबर को दिल्ली आएंगे.

ऐसा बताया जा रहा है कि पवार दिल्ली में विपक्षी नेताओं के साथ बैठक करेंगे. ऐसा भी बताया जा रहा है कि शरद पवार दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात कर सकते हैं. बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा में बीजेपी को जहां 105 सीटें मिली हैं, वहीं शिवसेना को 56 सीटों पर जीत मिली है. वहीं एनसीपी ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत हासिल की है. 

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे (Sushil Kumar Shinde) ने कहा है कि उनकी पार्टी शिवसेना (Shiv Sena) को कभी समर्थन नहीं करेगी. पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री और कांग्रेस नेता सुशील कुमार शिंदे ने कहा, 'महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव नतीजे आए उसमें किसी भी दल को बहुमत नही मिला है. न्यूजपेपर में चर्चाए होती रहती है कि कांग्रेस किसे समर्थन दे रही है? हमारी पार्टी धर्मनिरपेक्ष है , शिवसेना को समर्थन देने का सवाल ही नहीं है. कांग्रेस सेक्युलर पार्टी है , धर्म और जाति की राजनीति करनेवाले दल को हम समर्थन नहीं दे सकते. कांग्रेस के नेता दिल्ली में गए हैं तो मुझे जानकारी नहीं है. हमने जनादेश स्वीकार किया है , हम विपक्ष में बैठेंगे और जनता की सेवा करेंगे. 

महाराष्ट्र: स्पीकर चुनाव में शिवसेना, NCP, कांग्रेस का यह प्लान BJP के लिए खड़ी कर सकता है मुश्किलें
महाराष्ट्र (Maharashtra) में सत्ता के लिए खींचतान जारी है शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी (BJP) के बीच मामला आगे बढ़ता न देख अब विकल्पों पर काम शुरू हो गया है. शिवेसना, एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) मिलकर सरकार बना ले यह अभी भी दूर की कौड़ी लगती है. लेकिन यह तीनों दल स्पीकर चुनाव के लिए साथ आ सकते हैं.

यह भी पढे़ं- 5 नवंबर को हो सकता है देवेंद्र फडणवीस का शपथ ग्रहण, वानखेड़े स्टेडियम में होगा समारोह

स्पीकर चुनाव के नतीजे काफी कुछ तय कर सकते हैं. प्रदेश में शिवसेना की शर्तों पर शिवसेना - बीजेपी की सरकार बनेगी या फिर शिवसेना- एनसीपी सरकार जिसे कांग्रेस का आउटसाइड सपोर्ट हो. यह सबा इस चुनाव के नतीजे से तय हो जाएगा. इसी के साथ इस चुनाव में शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के बीच के संभावित तालमेल का ट्रायल भी हो जाएगा.

यह भी पढे़ं- संजय राउत ने कहा, 'शिवसेना चाहे तो सरकार बनाने के लिए जुटा सकती है जरूरी आंकड़ा'

सूत्रों के मुताबिक़ इस बारे में पिछले दरवाजे से बातचीत चल रही है. शिवसेना की तरफ से संजय राउत, एनसीपी से बात कर रहे हैं. जबकि शिवसेना की कांग्रेस से डायरेक्ट बातचीत नहीं हो रही है. बल्कि एनसीपी कांग्रेस से बात कर रही है.  यानी एनसीपी फिलहाल शिवसेना और कांग्रेस के बीच पुल का काम कर रही है. सूत्रो के मुताबिक एनसीपी प्रमुख शरद पवार चाहते हैं की स्पीकर उनकी पार्टी का हो. ​

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.