close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

निर्मला सीतारमण ने कहा, 'कांग्रेस ‘गरीबी हटाओ’ का पुराना नारा उठा रही है'

रक्षा मंत्री ने कहा कि कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा गढ़े गए ‘गरीबी हटाओ’ के नारे पर अब भी भरोसा कर रही है क्योंकि वे अपने शासनकाल में गरीबी दूर नहीं कर सके है.

निर्मला सीतारमण ने कहा, 'कांग्रेस ‘गरीबी हटाओ’ का पुराना नारा उठा रही है'
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

मेंगलुरु: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस ‘गरीबी हटाओ’का पुराना नारा दे रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा गढ़े गए ‘गरीबी हटाओ’ के नारे पर अब भी भरोसा कर रही है क्योंकि वे अपने शासनकाल में गरीबी दूर नहीं कर सके है. उन्होंने कहा, 'वे एक बार फिर गरीबी हटाओ के नारे के साथ आ रहे है.'  

सीतारमण ने उडुपी में न्यूनतम आय योजना का जिक्र करते हुए कहा, 'क्या ऐसा इसलिए है क्योंकि वे इन सालों में गरीबी दूर नहीं कर पाए?'  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को नई दिल्ली में घोषणा की थी कि उनकी पार्टी सत्ता में आने के बाद देश के सबसे अधिक गरीब परिवारों को न्यूनतम आय गारंटी के तहत सालाना 72,000 रुपये देगी. सीतारमण ने विवादास्पद राफेल सौदे पर किये गये सवालों को खारिज करते हुए कहा कि यह मामला विचाराधीन है.

सीतारमण ने लापता मछुआरों के परिवारों से मुलाकात की
इससे पहले रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि सात लापता मछुआरों की तलाश के लिए नौसेना ने हर संभव प्रयास किए है. ये मछुआरे नौका ‘सुवर्णा त्रिभुजा’ पर सवार थे. नौका गत 15 दिसम्बर से उडुपी के मालपे तट से लापता है. मंत्री ने दो लापता मछुआरों चन्द्रशेखर कोटियान और दामोदर सालियन के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की. 

सीतारमण ने कहा कि अब तक इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिली है कि नौका के साथ क्या घटित हुआ है. मंत्री ने कहा कि जैसा कि आदर्श आचार संहिता लागू है, मछुआरों के परिजनों से सुझाव लिए जा रहे हैं क्योंकि इस मुद्दे पर अभी खुलकर चर्चा नहीं की जा सकती है. उन्होंने कहा, 'मैंने परिवार के सदस्यों से रक्षा मंत्रालय का रूख करने और संबंधित अधिकारियों के साथ मुद्दे पर चर्चा करने के लिए कहा है.'  

जद (एस)-कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवार प्रमोद माधवराज ने आरोप लगाया था कि नौसेना ने लापता मछुआरों की तलाश के लिए समुचित अभियान नहीं चलाया. इस आरोप पर सीतारमण ने कहा कि इस मुद्दे का राजनीतिकरण किया जाना खेदजनक है.