close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नीतीश कुमार ने महिलाओं से कहा, 'घर के मर्द आपके हिसाब से वोट देकर आए तभी खाना दें'

इससे पहले नीतीश कुमार ने लखीसराय में जेडीयू प्रत्याशी राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित करते हुए वित्त रहित शिक्षकों को भी नसीहत दी थी.

नीतीश कुमार ने महिलाओं से कहा, 'घर के मर्द आपके हिसाब से वोट देकर आए तभी खाना दें'
नीतीश कुमार मधुबनी में बीजेपी प्रत्याशी के लिए जनसभा को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे. (फाइल फोटो)

बिंदुभूषण ठाकुर, मधुबनी : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार को मिथिला के मधुबनी में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) उम्मीदवार अशोक यादव के पक्ष में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने सभा में मौजूद महिलाओं से कहा, 'अगर घर के मर्द आपके हिसाब से वोट करके आए तो उन्हें प्रेम से भरपेट भोजन कराएं. वहीं, जो आपके हिसाब से वोट नहीं करे, उन्हें दिनभर उपसाव करा दीजिए. इस दौरान सीएम नीतीश ने महिलाओं से कहा कि सुबह-सवेरे पहले आप वोट दीजिए.

इससे पहले नीतीश कुमार ने लखीसराय में जेडीयू प्रत्याशी राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित करते हुए वित्त रहित शिक्षकों को भी नसीहत दी थी.

सभा के दौरान भीड़ से वित्त रहित शिक्षा नीति समाप्त करने का बैनर दिखा रहे लोगों पर सीएम नीतीश कुमार भड़क गए थे. सीएम ने बैनर दिखाने की घटना को विरोधियों की साजिश करार दिया. उन्होंने कहा कि चुनाव के समय में वित्त रहित शिक्षा नीति समाप्त करो का बैनर दिखाने का क्या औचित्य है. विरोधियों ने सिखाकर भेजा है और आप चुनाव के समय में मुझे सुनने के बजाय बैनर लगाकर आ गए हैं. उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि आप फोटो खिचवाएं हैं. कल छपेगा. उसी से समाधान होगा? 

सीएम नीतीश ने कहा कि कांग्रेस के नेता आएंगे, उन्हें वित्त रहित शिक्षा नीति बताइएगा. ये उन्हीं की देन है. मेरे समय का मामला नहीं है. उन्होंने कहा कि ऐसे बैनर से उन्हें कोई अंतर नहीं पड़ता है. सभी के लिए काम कर रहे हैं. सीएम नीतीश ने मंच से ही वित्त रहित शिक्षा नीति का बैनर हटाने के लिए कहा. इसके बाद दर्शक दीर्घा से बैनर हटा लिया गया.