close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राकेश सिंह को जारी हुआ आचार संहिता उल्लंघन मामले में नोटिस, इन BJP नेताओं के खिलाफ दर्ज हुई FIR

कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने इस संबंध में राज्य के मुख्य निर्वाचन आयोग से राकेश सिंह और उनके साथ मौजूद लोगों के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज करने का अनुरोध किया.

राकेश सिंह को जारी हुआ आचार संहिता उल्लंघन मामले में नोटिस, इन BJP नेताओं के खिलाफ दर्ज हुई FIR
मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह (फोटो साभारः ANI)

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश के भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष राकेश सिंह द्वारा जबलपुर जिला निर्वाचन कार्यालय में रिटर्निंग ऑफिसर के रूम में भीड़ लेकर जाने के मामले में आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया गया है. प्रदेश पार्टी अध्यक्ष राकेश सिंह के अलावा तीन अन्य दिग्गज नेताओं के खिलाफ ओमती थाने में एफआईआर भी दर्ज करवाई गई है, जिनमें सांसद प्रहलाद पटेल, पूर्व मंत्री शरद जैन और वीडी शर्मा के नाम शामिल हैं. इनके अलावा 5 अन्य भाजपा नेताओं पर भी आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है.

कांग्रेस के विरोध में BJP ने तैयार किया चुनावी नारा, 'कर्ज माफी धोखा है, धक्का दो मौका है'

कांग्रेस की शिकायत पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष को शो काज नोटिस जारी किया गया है. वहीं भीड़ को रोकने में नाकामयाब होने पर ओमती थाना के प्रभारी नीरज वर्मा को भी निलंबित कर दिया गया है. बता दें जबलपुर लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी राकेश सिंह ने सोमवार को रोड शो किया था, जिसमें उनके साथ कार्यकर्ताओं का बड़ा झुंड शामिल था. इसी झुंड के साथ राकेश सिंह निर्वाचन कार्यालय पहु्ंचे और वहां नामांकन दाखिल किया, जिसके बाद कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने इस संबंध में राज्य के मुख्य निर्वाचन आयोग से राकेश सिंह और उनके साथ मौजूद लोगों के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज करने का अनुरोध किया.

बता दें नामांकन पत्र दाखिल करने के समय निर्वाचन अधिकारी के पास ज्यादा से ज्यादा पांच लोग जा सकते हैं, लेकिन जब प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नामांकन दाखिल करने पहुंचे थे, तब उनके साथ लोगों का पूरा का पूरा हुजूम साथ था. जिसके चलते नरेंद्र सलूजा ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. वहीं इस पूरे मामले का एक वीडियो भी जारी किया गया है, जिसमें सिंह जनता की भीड़ के साथ नजर आ रहे हैं.

चुनाव 2019: भोपाल से दिग्विजय सिंह को टक्कर देने के लिए इन नामों पर मंथन कर रही है BJP

बता दें पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव भी इस दौरान रिटर्निंग ऑफिसर के कक्ष में मौजूद थे और इनके साथ दर्जनों भाजपा कार्यकर्ता भी इनके साथ रिटर्निंग अफसर के कक्ष में मौजूद थे, जिसके चलते सलूजा ने सिंह पर आदर्श आचार संहिता के उल्लघंन का आरोप लगाया है. वहीं कांग्रेस की शिकायत को जिला निर्वाचन अधिकारी ने भी गंभीरता से लिया है.