close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव : पप्पू यादव ने मधेपुरा से भरा पर्चा, महागठबंधन का नहीं मिला समर्थन

नॉमिनेशन के बाद पप्पू यादव ने कहा कि बाहर से आए नेताओं को जनता सबक सिखाएगी क्योंकि ये नेता जाति-धर्म के समीकरण से चुनाव लड़ने आए हैं.

लोकसभा चुनाव : पप्पू यादव ने मधेपुरा से भरा पर्चा, महागठबंधन का नहीं मिला समर्थन
पप्पू यादव ने लोकसभा चुनाव के लिए मधेपुरा से किया नॉमिनेशन.

मधेपुरा : बिहार के मधेपुरा से सांसद और जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय संरक्षक राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने गुरुवार को लोकसभा चुनाव के लिए मधेपुरा लोकसभा सीट से पर्चा भरा. इस बार वह अपनी पार्टी के चुनाव-चिन्ह 'हॉकी स्टिक और बॉल' पर चुनाव लड़ेंगे. नामांकन-पत्र भरने से पहले पप्पू यादव ने अपनी मां से आशीर्वाद लिया. उनकी पत्नी और सुपौल से कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन ने उनको विजय तिलक लगाकर चुनाव में भारी बहुमत से जीत हासिल करने की कामना की. नामांकन के बाद सांसद पप्पू यादव ने कहा, "मैं कोसी का बेटा हूं और जनता का आशीर्वाद लेने आया हूं."

उन्होंने कहा, "पांच साल मैंने क्षेत्र की सेवा की है. इस दौरान इलाके के हर गली से 500 से बार ज्यादा गुजरा हूं. मैंने सदन से सड़क तक मधेपुरा और सहरसा की जनता के लिए संघर्ष किया है. इसलिए मुझे उम्मीद है कि यहां की जनता अपने बेटे को आशीर्वाद देगी और बाहर से आए लोगों को बाहर ही रखने का काम करेगी."

उन्होंने कहा, मधेपुरा-सहरसा की जनता इतिहास लिखेगी. बाहर से आए नेताओं को जनता सबक सिखाएगी क्योंकि ये नेता जाति-धर्म के समीकरण से चुनाव लड़ने आए हैं. लेकिन, इस धरती की महान जनता इनका फुल एंड फाइनल कर देगी. महागठबंधन के सवाल पर पप्पू यादव ने कहा, "महागठबंधन से समर्थन नहीं मिलने का मुझे कोई मलाल नहीं है. आज देश संकट के दौर से गुजर रहा है. संवैधानिक संस्थाओं को ध्वस्त करने की कोशिश की जा रही है."

यादव ने कहा, "परिस्थितिवश हम जिस ताकत को हराना चाहते हैं, उसके लिए महागठबंधन से एकता की उम्मीद की थी, लेकिन यहां व्यक्तिगत अहंकार ने महागठबंधन को कमजोर करने का काम किया है. जनता ऐसे लोगों को सबक सिखाएगी." पप्पू यादव ने नामांकन के बाद मधेपुरा में रास बिहारी मंडल हाई स्कूल प्रांगण में आशीर्वाद सभा के दौरान कहा, "मधेपुरा-सहरसा की जनता उनके साथ चलेगी, जो इस धरती का है और यहां सुख-दुख में साथ खड़ा होता है. उनके साथ नहीं जो पांच साल में एक बार वोट लेने आते हैं."

उन्होंने कहा, "हम आमजन के न्याय के लिए लड़ते हैं. हमने लोगों के बीच समरसता और समानता का रिश्ता बनाया है. हमने अस्पताल, रोजगार, शिक्षा, आंगनबाड़ी और कानून-व्यवस्था के मुद्दों को लेकर लड़ाई लड़ी. जनता के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए मैं जेल भी गया." नामांकन के मौके पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखलाक अहमद, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अजय कुमार बुलगानीन, रघुपति सिंह, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, राघवेंद्र कुशवाहा, राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू सहित पार्टी के सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्ष व जिला अध्यक्ष उपस्थित थे.