close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BJP की जीत पर बोली बनारस की जनता- मोदी को मिला बाबा काशी विश्वनाथ का आशीर्वाद

वाराणसी के दशाश्वमेध घाट की जनता ने कहा कि मोदी को बाबा काशी विश्वनाथ, काशी के कोतवाल काल भैरव और मां गंगा का आशीर्वाद पुनः प्राप्त हुआ है.

BJP  की जीत पर बोली बनारस की जनता- मोदी को मिला बाबा काशी विश्वनाथ का आशीर्वाद
मोदी के अभियान का लोगों पर सकारात्मक असर हुआ है.

नई दिल्ली: देशभर में भाजपा को मिले प्रचंड बहुमत को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी पूरी तरह से मोदीमय हो गया है और स्थानीय लोगों का कहना है कि मोदी को बाबा काशी विश्वनाथ और काशी के कोतवाल-काल भैरव का आशीर्वाद पुनः प्राप्त हुआ है.

दशाश्वमेध घाट स्थित बनारस साड़ी फैक्टरी के मालिक श्याम कुमार पांडेय ने कहा कि मोदी को बाबा काशी विश्वनाथ, काशी के कोतवाल काल भैरव और मां गंगा का आशीर्वाद पुनः प्राप्त हुआ है. वैसे तो प्रियंका और अखिलेश भी काशी विश्वनाथ बाबा का आशीर्वाद लेने आए थे, लेकिन उन्हें आशीर्वाद मिला नहीं क्योंकि ये लोग मोदी की देखा देखी आए थे.

मोदी सरकार के स्वच्छता अभियान पर उन्होंने कहा कि बनारस में पान खाने की सदियों से परंपरा रही है और यहां करीब 80 प्रतिशत नागरिक पान खाते हैं लेकिन मोदी के इस अभियान का लोगों पर सकारात्मक असर हुआ है. दशाश्वमेध चितरंजन पार्क पर विजय जुलूस का नेतृत्व कर रहे दशाश्वमेध व्यापार मंडल के महामंत्री सुरेश तुलस्यान ने कहा कि बनारस में मोदी की जीत सुनिश्चित थी क्योंकि मोदी ने बनारस के लिए और पूरे देश में जो काम किया है, वह पहले कभी नहीं हुआ.

कमच्छा से दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती में हिस्सा लेने आईं शालिनी सिंह ने नरेंद्र मोदी की जीत पर खुशी जताते हुए कहा, हम सभी चाहते थे कि मोदी जी ही जीतें क्योंकि बनारस के लिए उन्होंने जो काम किया है, वह साफ दिखाई देता है. पहले जब हम दिल्ली बंबई से घूमकर आते थे तो लगता था कि हम गांव में आ गए हैं, लेकिन अब हमें बनारसी होने पर गर्व होता है.

ढोल ताशे की आवाज और मोदी मोदी के नारे के बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता लक्ष्मण आचार्य ने कहा, महिलाओं, पुरुषों, दिव्यांगों, बुजुर्गों सभी ने मोदी जी के काम पर उन्हें भारी बहुमत से जिताने का काम किया है. उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री मोदी जी ने जिस प्रकार से समाज के सभी वर्गों का विकास किया है, उससे जातिवाद की राजनीति करने वालों का सफाया हुआ है. वहीं ईवीएम को लेकर विपक्षी दलों के पास विरोध करने के सिवाय कुछ बचा नहीं है.

सिगरा रोड स्थित बैजू भइया तांबुल भंडार पर पान खाने पहुंचे मनोज मिश्रा ने कहा कि हमें लगता है कि इस चुनाव में मोदी 9 लाख से ज्यादा मतों से जीतेंगे. यहां तो मोदी के अलावा कोई सीन में है ही नहीं. मिश्रा ने कहा इस बार लोगों ने विकास के नाम पर वोट किया है न कि जाति के नाम पर. विपक्ष द्वारा ईवीएम में गड़बड़ी के आरोपों पर उन्होंने कहा 'ईवीएम में गड़बड़ी करना आसान नहीं है. पांच लोगों के हस्ताक्षर होते हैं. पार्टी के लोग पहरेदारी करते हैं. इतनी सुरक्षा के बावजूद ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए इन नेताओं को शर्म नहीं आती'.

कांग्रेस समर्थक समाजसेवी कौशल राय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोजगार, शिक्षा जैसे मुद्दों को राष्ट्रवाद में उलझा दिया और पूरा देश राष्ट्रवाद के मुद्दे पर उलझ गया. अब मोदी विपक्षी पार्टियों के नेताओं की खटिया खड़ी करेंगे यह तय है क्योंकि चुनाव के दौरान कई सीमाएं पार हो गईं.

शाम तक देशभर में मोदी सरकार के दोबारा बनने की तस्वीर साफ होने के साथ वाराणसी के गोदौलिया, सिगरा, पांडेयपुर, चौकाघाट, रवींद्रपुरी, लंका सहित प्रमुख इलाकों में पार्टी कार्यकर्ताओं ने ढोल बाजे के साथ विजय जुलूस निकाला. शाम 6:45 बजे तक वाराणसी संसदीय सीट पर नरेंद्र मोदी अपनी निकट प्रतिद्वंदी शालिनी यादव (सपा-बसपा गठबंधन उम्मीदवार) से 4,78,690 मतों से आगे चल रहे थे. यह रिकार्ड अंतर है. पिछले 2014 के आम चुनावों में मोदी 3,71,784 मतों के अंतर से जीते थे.