आप लोग तय मानिए मोदी सरकार जाने वाली है: प्रियंका वाड्रा

आप लोग तय मानिए मोदी सरकार जाने वाली है: प्रियंका वाड्रा

कांग्रेस महासचिव ने कहा, “लोगों के अंदर गुस्सा है और वह परेशान हैं. मोदी जी उनके मुद्दों पर बात करने की बजाए इधर-उधर की बात कर रहे हैं. अब, लोग मतदान के जरिए इस सरकार के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर करेंगे.' उन्होंने कहा कि ऐसा खास कर उत्तर प्रदेश में देखने को मिलेगा.

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने रविवार को कहा कि यह एकदम स्पष्ट है कि लोकसभा चुनावों में बीजेपी हार रही है क्योंकि लोग 'आक्रोशित एवं व्यथित” हैं और वे मतदान के जरिए अपनी भावनाएं व्यक्त करेंगे. अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने के बाद संवाददाताओं से उन्होंने कहा कि यह 'बहुत साफ है कि बीजेपी सरकार जा रही है.' कांग्रेस महासचिव ने कहा, “लोगों के अंदर गुस्सा है और वह परेशान हैं. मोदी जी उनके मुद्दों पर बात करने की बजाए इधर-उधर की बात कर रहे हैं. अब, लोग मतदान के जरिए इस सरकार के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर करेंगे.' उन्होंने कहा कि ऐसा खास कर उत्तर प्रदेश में देखने को मिलेगा.

'यूपी की जनता बीजेपी से खासतौर से नाराज हैं'
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लोकसभा चुनाव के छठे चरण के तहत रविवार को वोट डाला. उन्होंने दावा किया कि इस बार भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सत्ता से बेदखल हो जाएगी. कांग्रेस नेता और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा ने मध्य दिल्ली के लोधी एस्टेट क्षेत्र में सरदार पटेल विद्यालय में अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इसके बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि देश की जनता, विशेषकर उत्तर प्रदेश की जनता बीजेपी सरकार से खुश नहीं है.

'बीजेपी की तरह हम नकारात्मक नहीं'
उन्होंने कहा, 'यह स्पष्ट हो गया है कि बीजेपी चुनाव हार रही है. उम्मीद है कि दिल्ली में भी परिणाम अच्छे आएंगे.' पिछले लोकसभा चुनावों के दौरान किए वादों पर नहीं बोलने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी का चुनाव प्रचार बीजेपी के चुनाव प्रचार जितना नकारात्मक नहीं है.

उन्होंने कहा, 'हमने आम आदमी को प्रभावित करने वाले असली मुद्दे उठाए और उनके समाधानों पर बात की, वहीं मोदी जी लगातार महत्वहीन मुद्दों पर बोले जा रहे हैं.' गांधी ने मोदी पर विपक्ष के सवालों का जवाब नहीं देने का भी आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री उनसे पूछे गए सवालों के जवाब नहीं देते हैं. उन्हें 15 लाख रुपये देने, प्रतिवर्ष दो करोड़ रोजगार देने और किसानों की आय पर जवाब देने चाहिए. वे राहुल जी (कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी) द्वारा दी गई विभिन्न मुद्दों पर बहस की चुनौती पर भी चुप हैं.'

ये भी देखे

Trending news