close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तीसरे चरण के बाद विपक्ष ने मान ली हार, इसलिए रोने लगे EVM का रोना : PM नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि विरोधियों ने अपनी नाकामी और पराजय का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ने की तैयारी पूरी कर ली है. ईवीएम पर विपक्ष का रोना इसलिए हो रहा है कि जनता महामिलाटवियों को वोट देकर वोट खराब करना नहीं चहती है.

तीसरे चरण के बाद विपक्ष ने मान ली हार, इसलिए रोने लगे EVM का रोना : PM नरेंद्र मोदी
पीएम मोदी ने आज लोहरगा में एक जनसभा को संबोधित किया. (फाइल फोटो)

लोहरदगा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड के दौरे पर हैं. मंगलवार को रांची में उन्होंने एक रोड शो किया और आज यानी बुधवार को लोहरदगा में एक जनसभा को संबोधित किया. पीएम मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों का हुजूम जो देखने को मिला है, उससे हवा का रुख पता चल रहा है. एक सरकार को दोबारा बनाने के लिए जनता का मिजाज क्या होता है, झारखंड वालों ने दिखा दिया है.

पीएम मोदी ने कहा, ''तीन चरण के मतदान के बाद अब विरोधियों के लिए खुले रूप से पराजय स्वीकर करने के अलावा कोई चारा ही नहीं बचा है. उन्हें दूसरे चरण के बाद ही अंदाजा हो गया था. तीसरे फेज के चुनाव के बाद विरोधियों के चेहरे लटक गए हैं. विरोधियों ने भी मान लिया है 'फिर एकबार मोदी सरकार'. तीसरे चरण के बाद विरोधियों ने फिर ईवीएम का मुद्दा बना लिया है. यह इनकी हार का सबूत है.''

पीएम मोदी ने कहा कि विरोधियों ने अपनी नाकामी और पराजय का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ने की तैयारी पूरी कर ली है. ईवीएम पर विपक्ष का रोना इसलिए हो रहा है कि जनता महामिलाटवियों को वोट देकर वोट खराब करना नहीं चहती है. इस दौरान उन्होंने कहा, 'जो विधानसभा चुनाव बचाने की ताकत नहीं रखते हैं, वो ईवीएम को गाली देना शुरू कर दिए हैं. लोग देश के विकास के लिए वोट कर रहे हैं.'

इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली में आपने मजबूत सरकार बनाई, तभी आज नक्सलवाद पर काबू पा सके हैं. झारखंड में भी लोग अनुभाव कर रहे हैं कि जिन इलाकों में लोग दिन ढलने के बाद बाहर निकलने से ड़रते थे, वहां परिस्थ्तियां बदली है. देश में नक्सल प्रभावित जिलों की संख्या में कमी आई है. युवाओं में उत्साह जगा है. हिंसा का रास्ता छोड़ मुख्य धारा में आने की संख्या में बढ़ोतरी हुई है.

लोहरदगा में पीएम मोदी ने आतंकवाद के बहाने भी कांग्रेस पार्टी पर हमला किया. उन्होंने कहा कि दो दिन पहले ही ईस्टर के पवित्र दिन पर श्रीलंका में आतंकवादियों ने किस तरह चर्च और अन्य प्रमुख जगहों पर धमाके किए. सैकड़ों लोगों की जान ले ली. उन्होंने कहा कि 2014 से पहले भारत भी इसी स्थिति से गुजरता था. पाकिस्तान यहां आतंकी भेजाता था. वो घटना को अंजाम देते थे. कांग्रेस की सरकार रोना शुरू कर देती था.

पीएम मोदी ने कहा कि पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब आपके इसी चौकीदार की सरकार ने किया है. आतंकिवादियों को घर में घुसकर मारा है. आज हर आतंकी के मन में डर है कि कोई गलती की तो ये मोदी है. उसे पाताल से भी निकालकर ठिकाने लगाएगा. उन्हें भारत के खिलाफ किए गए गुनाह की सजा भुगतनी पड़ेगी.

उन्होंने इराक की घटना का भी जिक्र किया. सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इराक में हमारी कुछ बेटियां वहां नर्सिंग का काम करती थी. आतंकवादियों ने उन्हें पकड़ लिया था. वो जीवन-मौत के बीच जूझ रही थी. आपकी बेटी, चौकीदार की बेटी भी है. हमने ये नहीं देखा किस बेटी के भाल पर कुमकुम है. किसके गले में रुद्राक्ष की माला है. मस्जिद जाती है या चर्च. हमने उन्हें वहां से निकालकर वापस लाया. हमारी सरकार धर्म और जाति के आधार पर नहीं सोचती है.

एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने वालों पर भी पीएम मोदी ने हमला किया. उन्होंने कहा, 'आपको याद रखना होगा कि कांग्रेस कैसे पाकिस्तन को सबक सिखाने वाले वीर जवानों से सबूत मांग रही है. उनके पराक्रम पर शक कर रहे हैं. क्या सेना पर शक किया जा सकता है? मेरे देश के जंगलों में रहने वाले लोगों को सेना पर भरोसा भी है और श्रद्धा भी है, लेकिन कांग्रेस को नहीं हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस हर उस परिवार का अपमान कर रही है, जिसके बेटे-बेटी देश की सुरक्षा में लगे हैं.'

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बयान का जिक्र करते हुए उन्होंने कांग्रेस पार्टी को घेरा. पीएम ने कहा कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री बोलते हैं कि फौज में तो वो ही नौजवान जाते हैं, जिन्हें दो वक्त की रोटी नसीब नहीं होती है. जिन्हें भूख मिटानी होती है. उन्होंने कहा कि ऐसी सोच रखने वालों को डूब मरना चाहिए. उन्होंने सवालिया लहजे में पूछा कि पुलवामा में शहीद होने वाले विजय सोरेन इसलिए सेना में जाते थे कि उन्हें दो वक्त का खाना नहीं मिलता है. हमरा वीर जवान दुश्मन को गोली मारने और जरूरत पड़ने पर सीने पर गोली खाने के लिए मां का पैर छूकर घर से निकलता है.