close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अखिलेश बोले, 'एक बटन दबाने से चौकीदार, ठोकीदार और धमकीदार तीनों चले जाएंगे'

सपा अध्यक्ष ने कहा कि उनकी (मोदी की) पोल खुल गयी है. चाय वाले अबकी बार चौकीदार बनकर आये हैं. जो किसी लायक नहीं हैं, वे भी चौकीदार के समर्थक हैं.' उन्होंने कहा कि चौकीदार के साथ उत्तर प्रदेश में 'ठोको नीति' चलाने वाले को भी बाहर करना है. 

अखिलेश बोले, 'एक बटन दबाने से चौकीदार, ठोकीदार और धमकीदार तीनों चले जाएंगे'
अखिलेश ने कहा कि लोकतंत्र में कोई राजा नहीं होता है. (फोटो साभार- @yadavakhilesh)

प्रतापगढ़/कौशाम्बी: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए गुरुवार को कहा कि 'चाय वाले' ने देश की जनता से वादाखिलाफी की है. अखिलेश ने महागठबंधन के कौशाम्बी लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी इन्द्रजीत सरोज और प्रतापगढ़ से प्रत्याशी अशोक त्रिपाठी के समर्थन में आयोजित जनसभा में कहा, 'चाय वाले ने देश की जनता से वादाखिलाफी की है.' 

सपा अध्यक्ष ने कहा कि उनकी (मोदी की) पोल खुल गयी है. चाय वाले अबकी बार चौकीदार बनकर आये हैं. जो किसी लायक नहीं हैं, वे भी चौकीदार के समर्थक हैं.' उन्होंने कहा कि चौकीदार के साथ उत्तर प्रदेश में 'ठोको नीति' चलाने वाले को भी बाहर करना है. ठोको नीति के कारण ही पुलिस के लोग अपमानित हो रहे हैं. 'चौकीदार, ठोकीदार का इस चुनाव में पता नहीं चला तो धमकीदार का पता कहां चलेगा?' 

अखिलेश ने कहा कि लोकतंत्र में कोई राजा नहीं होता है. जनता ही राजा होती है. इस समय गठबंधन की लहर है. जनता जिसको चाहेगी, उसे राजा बनाएगी और जिसके खिलाफ हुई, उसकी कुर्सी छीन लेगी. उन्होंने कहा, 'भाजपा के लोग छल और धोखे से हमें पीछे करना चाहते हैं. हम चाहते हैं कि जातिगणना के आधार पर सबको आनुपातिक भागीदारी मिले, तभी सामाजिक हक और सम्मान स्थापित होगा. अखिलेश ने कहा कि साइकिल का एक बटन दबाने से चौकीदार, ठोकीदार और धमकीदार तीनों चले जायेंगे. इतिहास में कम ही ऐसे अवसर मिलते है जब सबक सिखाया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि जनता का जोश बता रहा है कि इस बार परिवर्तन होने जा रहा है और असली वोट असली जगह आ गया है. कोई नहीं सोच रहा था कि यह गठबंधन हो जाएगा. यह गठबंधन किसानों, नौजवानों, दलित, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों और आम जनता के हित में बना जमीनी गठबंधन है. इस गठबंधन से ही सामाजिक न्याय मिलेगा.

अखिलेश ने कहा कि महागठबंधन से ही गोरखपुर में जीत हुई, जहां कोई सोच नहीं सकता था. इसी प्रकार फूलपुर और कैराना के उपचुनाव में जीत हासिल हुई. दलितों, पिछड़ों अल्पसंख्यकों और अगड़ों के दिलों को जोड़कर यह गठबंधन बना है. इससे भाजपा की हवा खराब हो गयी है. उन्होंने कहा, 'जो लोग टीवी पर चिल्लाते थे, वे कम दिखायी दे रहे हैं. उनकी आवाज दब गयी है. बहराइच और बाराबंकी में भाजपा को कोई सुनने भी नहीं आया. भाजपा जाने वाली है. समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी आने वाली है.

उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनता को धोखा दिया है अच्छे दिन के नाम पर सपने दिखाकर जनता को गुमराह किया गया. करोड़ों लोगों को नौकरी और किसानों से किया गया वादा पूरा नहीं किया गया. देश की अर्थव्यवस्था चौपट हो गयी है. भारत सरकार पर इस समय 82 लाख करोड़ का कर्ज है.

 

अखिलेश ने कहा कि समाजवादी सरकार में किए गये विकास कार्यों को जनता आज भी याद कर रही है. समाजवादी सरकार में 102 और 108 नम्बर एम्बुलेंस से सभी को लाभ मिला. यूपी डायल-100 से पुलिस विभाग का आधुनिकीकरण कर अनेक सुविधाओं से लैस किया गया, जिससे जनता को लाभ मिल सके. इस डायल 100 सेवा को भी भाजपा सरकार ने बर्बाद कर दिया.

उन्होंने कहा कि दिल्ली में महागठबंधन की सरकार बनने पर भारी तादाद में नौजवानों को नौकरी दी जायेगी. सपा अध्यक्ष ने कहा, 'नौजवानों को रोजगार नहीं दिया गया. इसके उलट उन्हें पकौड़ा तलने को कहा गया. इसके पीछे प्रधानमंत्री जी रिफाइण्ड तेल के माध्यम से उद्योगपतियों को मालामाल करना चाहते हैं. समाजवादी चाहते हैं कि किसान के सरसों का अधिक उत्पादन हो, जिससे अन्नदाता समृद्ध हो सके.' उन्होंने कहा कि यह चुनाव भरोसे का चुनाव है. देश और संविधान बचाने का चुनाव है.