close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सही शपथ न लेने पर मंत्री फग्‍गन सिंह कुलस्‍ते को टोका, 'मैं..भी बोलना है'

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में एक भव्य समारोह में मोदी व उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सही शपथ न लेने पर मंत्री फग्‍गन सिंह कुलस्‍ते को टोका, 'मैं..भी बोलना है'
राज्‍यमंत्री पद की शपथ लेते हुए फग्‍गन स‍िंह कुलस्‍ते अटक गए. फोटो : एएनआई

नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हो रहे मंत्रियों को शपथ लेने के दौरान गड़बड़ाने पर टोका. राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते शपथ की पहली लाइन बोलना भूल गए. इस पर राष्ट्रपति ने उनसे कहा, "मैं..भी बोलना है." उन्होंने वीके सिंह से भी कहा कि वह 'तब के सिवाय' कहें. उन्होंने जी.कृष्ण रेड्डी को 'विधि के अनुसार न्याय करूंगा' कहने में मदद दी. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में एक भव्य समारोह में मोदी व उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई.

फग्गन सिंह कुलस्ते, जी कृष्‍ण रेड्डी और वीके सिंह ने राज्‍यमंत्री पद की शपथ ली. जी कृष्‍ण रेड्डी तेलंगाना के सिकंदराबाद से जीत कर आए हैं. वह पहली बार मंत्री बने हैं.

मोदी सरकार ने ली शपथ, अमित शाह, जयशंकर भी बने कैबिनेट मंत्री
करीब दो घंटे चले शपथ ग्रहण समारोह में एनडीए की जीत के सूत्रधार रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर आकर्षण का केंद्र रहे. खासकर जयशंकर को मंत्रिमंडल में शामिल कर और कैबिनेट मंत्री का दर्जा देकर प्रधानमंत्री मोदी ने सभी को चौंका दिया. जयशंकर भारतीय विदेश सेवा के दूसरे ऐसे अधिकारी हैं जिन्हें मोदी ने अपने मंत्रिमंडल में स्थान दिया है. सरकार में शामिल किए गए हरदीप सिंह पुरी भी भारतीय विदेश सेवा के वरिष्ठ अधिकारी रहे हैं. मोदी ने शपथ ग्रहण करने के बाद ट्वीट में कहा, ‘‘भारत की सेवा कर गौरवान्वित.’

शपथ ग्रहण समारोह का रंग तब कुछ फीका पड़ता नजर आया जब नए मंत्रिमंडल में राजग के पुराने सहयोगी जनता दल यू ने अपने किसी प्रतिनिधि को शामिल करने से इनकार कर दिया. मोदी के पहले मंत्रिमंडल के प्रमुख सदस्य व भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली व सुषमा स्वराज को नई सरकार में स्थान नहीं मिला है. स्वराज ने जहां इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा वहीं जेटली ने स्वास्थ्य कारणों से मंत्री बनने से बुधवार को ही इंकार कर दिया था.

राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में आमंत्रित लगभग आठ हजार खास मेहमानों की मौजूदगी में क्रीम रंग का कुर्ता पायजामा एवं अपनी चिरपरिचित जैकेट पहने मोदी ने शपथ लेने के बाद राष्ट्रपति के पास जाकर उनसे गर्मजोशी के साथ हाथ मिलाया और मुस्कुराते हुए उनसे बधाई स्वीकार की.