close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PM मोदी एक मई को जाएंगे अयोध्या, क्‍या रामलला के दर्शन के लिए जाएंगे

प्रधानमंत्री की यह जनसभा दो जिलों के प्रत्याशियों के लिए संयुक्त जनसभा होगी. उस दिन सुबह पहली जनसभा पीएम नरेन्द्र मोदी अयोध्या के मयाबाजार में करेंगे. बीजेपी के अनुसार, पीएम मोदी की रैली में 5 लाख लोगो के आने की सम्भावना है.

PM मोदी एक मई को जाएंगे अयोध्या, क्‍या रामलला के दर्शन के लिए जाएंगे

मनमीत गुप्‍ता, अयोध्‍या: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1 मई को अयोध्या जाएंगे. प्रधानमंत्री यहां पर मया बाजार में एक विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे. यहां पर वह मयाबाजार के मैदान में फैजाबाद लोकसभा प्रत्याशी लल्लू सिंह व अम्बेडकरनगर के प्रत्याशी मुकुट बिहारी वर्मा के समर्थन में जन सभा को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री की यह जनसभा दो जिलों के प्रत्याशियों के लिए संयुक्त जनसभा होगी. उस दिन सुबह पहली जनसभा पीएम नरेन्द्र मोदी अयोध्या के मयाबाजार में करेंगे. बीजेपी के अनुसार, पीएम मोदी की रैली में 5 लाख लोगो के आने की सम्भावना है.

पीएम नरेंद्र मोदी की अयोध्या में यह दूसरी जन सभा हो रही है. इससे पूर्व 2014 में सीएम रहते नरेंद्र मोदी ने जीआईसी मैदान में जनसभा की थी. पीएम नरेंद्र मोदी के अयोध्या आगमन पर अयोध्या के संतो में ख़ुशी है. लेकिन एक मलाल भी है. संतो का कहना है कि पीएम नरेन्द्र मोदी का अयोध्या में स्वागत है. लेकिन उन्‍हें रामलला के दर्शन जरूर करने चाहि‍ए.

बता दें पीएम नरेन्द्र मोदी अयोध्या में एक मई को आ रहे हैं. लेकिन वह अयोध्या शहर से 24 किलोमीटर दूर मयाबाजार में आएंगे. मयाबाजार गोसाई गंज विधानसभा में आता है. यह विधानसभा अयोध्या जिले की विधान सभा होने के बावजूद परिसीमन में लोक सभा अम्बेडकरनगर में आता है. पीएम नरेन्द्र मोदी एक तीर से दो निशानों को भेदेंगे. पीएम मोदी फैजाबाद लोकसभा व अम्बेडकरनगर लोक सभा के प्रत्याशियों का प्रचार करेंगे. उनके लिए वोट मांगेगें. दो जिलों की जनता को जनसभा में संबोधित करेंगे.

फैजाबाद लोक सभा से वर्तमान सांसद लल्लू सिंह को प्रत्याशी बनाया गया है. वहीं अम्बेडकरनगर से योगी सरकार में मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा को प्रत्याशी बनाया गया है. पीएम मोदी अयोध्या जा रहे हैं. लेकिन वह अयोध्या में रामलला से दूरी बना रहे हैं. अयोध्या के संतो का कहना है की अयोध्या में पी एम नरेन्द्र मोदी का स्वागत है. लेकिन उनको श्री रामलला व हनुमान गढ़ी का दर्शन जरूर करना चाहिए. संतों को इस बात का मलाल है कि पीएम नरेन्द्र मोदी अयोध्या आ कर भी रामलला से दूरी बनाए हुए हैं.

संत समाज मानता है कि‍ पीएम मोदी की दूसरी बार की सरकार में राम मंदिर का निर्माण जरूर होगा. साथ ही धारा 370 भी समाप्त होगा.