close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पंजाब में नहीं दिखी 'मोदी लहर', कांग्रेस ने 2014 से कहीं बेहतर प्रदर्शन किया

2014 आम चुनावों में अकाली दल को चार सीटें मिली थीं, लेकिन इस बार उसे सिर्फ दो सीटें मिली हैं. 

पंजाब में नहीं दिखी 'मोदी लहर', कांग्रेस ने 2014 से कहीं बेहतर प्रदर्शन किया
2014 में कांग्रेस को महज 3 सीटें मिली थीं. (कैप्टन अमरिंदर सिंह, फोटो साभार @ianuragthakur)

चंडीगढ़: लोकसभा चुनावों में उत्तर, मध्य एवं पूर्वी भारत में ‘मोदी लहर’ को दरकिनार करते हुए कांग्रेस ने पंजाब की कुल 13 लोकसभा सीटों में से 8 पर जीत दर्ज की है. साल 2014 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस को पंजाब में महज तीन सीटें मिली थीं. अकाली दल-बीजेपी गठबंधन को चार सीटें और आम आदमी पार्टी को सिर्फ एक सीट मिली है. पंजाब से शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल, बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल, पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी एवं परणीत कौर और रवनीत सिंह बिट्टू उन प्रमुख चेहरों में हैं जिन्हें जीत मिली है.

केंद्रीय मंत्री एवं बीजेपी उम्मीदवार हरदीप सिंह पुरी, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ और अकाली दल के उम्मीदवार प्रेम सिंह चंदूमाजरा हारने वाले प्रमुख चेहरे हैं. पिछले आम चुनावों में अकाली दल को चार सीटें मिली थीं, लेकिन इस बार उसे सिर्फ दो सीटें मिली हैं. 

बीजेपी ने होशियारपुर और गुरदासपुर सीटें जीती, लेकिन एक बार फिर अमृतसर सीट नहीं जीत सकी. पंजाब में ‘आप’ को पिछले आम चुनावों में चार सीटें मिली थीं, लेकिन इस बार उसे सिर्फ एक सीट मिल सकी है. संगरूर सीट पर ‘आप’ उम्मीदवार भगवंत मान जीते हैं.