समझौते के मूड में कांग्रेस, SP-BSP के खिलाफ यूपी की इन 7 सीटों पर नहीं लड़ेगी लोकसभा चुनाव

राज बब्बर ने कहा कि यूपी में कांग्रेस लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में एसपी, बीएसपी और आरएलडी गठबंधन की सात सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी. 

समझौते के मूड में कांग्रेस, SP-BSP के खिलाफ यूपी की इन 7 सीटों पर नहीं लड़ेगी लोकसभा चुनाव
कांग्रेस ने अपना दल (कृष्णा पटेल गुट) को गोंडा और पीलीभीत की दो लोकसभा सीटें दी हैं. (फोटो सौजन्य: ANI)

लखनऊ: लोकसभा 2019 के चुनावी समर से पहले उत्तर प्रदेश (यूपी) से एक बड़ी खबर सामने आई है. कांग्रेस यूपी में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव, बीएसपी सुप्रीमो मायावती और आरएलडी नेता अजीत सिंह और उनके पुत्र जयंत सिंह के खिलाफ कोई प्रत्याशी नहीं उतारेगी. यूपी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने रविवार को इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि कांग्रेस यूपी की 7 सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी. एसपी, बीएसपी और आरएलडी की इन सात सीटों में मैनपुरी, कन्नौज, फिरोजाबाद के साथ मायावती की सीट और आरएलडी की दो सीटें हैं. 

कृष्णा पटेल के नेतृत्व वाले अपना दल को दो लोकसभा सीटें 
राज बब्बर ने कहा कि यूपी में कांग्रेस लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में एसपी, बीएसपी और आरएलडी गठबंधन की सात सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपना दल (कृष्णा पटेल गुट) को गोंडा और पीलीभीत की दो लोकसभा सीटें दी हैं. बता दें कि कांग्रेस ने हाल ही में कृष्णा पटेल के नेतृत्व वाले अपना दल से गठबंधन किया था. वहीं, केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के नेतृत्व वाले अपना दल (सोनेलाल) धड़ा एनडीए में शामिल है.  

मुलायम, मायावती, डिंपल और अक्षय की सीटों पर नहीं उतरेंगे कांग्रेस प्रत्याशी
एसपी ने अपने प्रत्याशियों की दूसरी सूची में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को मैनपुरी, एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को कन्नौज और सपा के थिंकटैंक माने जाने वाले रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय सिंह को फिरोजाबाद से चुनावी मैदान में उतारा है. वहीं, बीएसपी सुप्रीमो मायावती किस सीट से चुनाव लड़ेंगी, यह अभी तय नहीं हो पाया है. इसीलिए कांग्रेस ने कहा है कि मायावती जहां से भी चुनाव लड़ेंगी उस सीट पर कांग्रेस का उम्मीदवार नहीं उतरेगा.

महान दल खासतौर पर विधानसभा चुनाव के लिए उत्साहित
राज बब्बर ने यूपी में गठबंधन की रणनीति पर आगे कहा कि कांग्रेस ने महान दल से बातचीत चल रही है. महान दल की इच्छा खासतौर पर विधानसभा चुनाव लड़ने की है और हम उन्हें जो भी सीट देंगे, वह उसपर चुनाव लड़ने को तैयार हैं. लोकसभा चुनाव के लिए महान दल के उम्मीदवार कांग्रेस के निशान के साथ ही चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने बताया कि जन अधिकार पार्टी के साथ कांग्रेस का समझौता हो चुका है. वह सात सीटें मांग रहे थे, जिनमें से अब 5 पर जन अधिकार पार्टी और दो पर कांग्रेस चुनाव लड़ेगी. 

 

 

एसपी-बीएसपी ने भी अमेठी और रायबरेली सीट पर नहीं उतारे प्रत्याशी
गौरतलब है कि यूपी में एसपी-बीएसपी-आरएलडी गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किया गया है. एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बीएसपी मुखिया मायावती ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस से दूरी बना रखी है. हालांकि, एसपी-बीएसपी-आरएलडी गठबंधन ने भी कांग्रेस की पारंपरिक अमेठी और रायबरेली की लोकसभा सीट पर अपने प्रत्याशी नहीं उतारे हैं.