तेजस्वी का नीतीश कुमार पर तंज, अंतिम चरण के आखिरी दिन तो जारी कर दिजीए 'घोषणा पत्र'

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए जेडीयू पार्टी के द्वारा कोई घोषणा पत्र नहीं जारी किया गया है. 

तेजस्वी का नीतीश कुमार पर तंज, अंतिम चरण के आखिरी दिन तो जारी कर दिजीए 'घोषणा पत्र'
तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण का मतदान 19 मई को होनेवाला है. इसके लिए चुनाव प्रचार अंतिम दौर में है. सभी नेता एक दूसरे पर निशाना साधने या तंज कसने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने भी नीतीश कुमार पर तंज कसने का कोई मौका नहीं छोड़ा है. इस बार फिर उन्होंने जेडीयू के घोषणा पत्र को लेकर तंज कसा है.

तेजस्वी यादव ने जेडीयू के घोषणा पत्र को लेकर नीतीश कुमार पर तंज कसा है. उन्होंने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर तंज कसा है. जिसमें उन्होंने कहा कि चाचा जी अंतिम चरण के अंतिम दिन भी घोषणा पत्र जारी कर दिजीए.

उन्होंने ट्वीट में लिखा कि, चाचा जी, आख़िरी चरण के आख़िरी दिन तो कम से कम अपना घोषणा पत्र जारी कर दिजीए. भाजपाई सब से इतना भी मत डरिए, अन्यथा लोग कहेंगे, एक बिहारी मुख्यमंत्री बाहरियों से डर गया. सिद्धांत, नीति, नियत, नियम, नैतिकता,स्वतंत्र विचार कुछ बचा है कि नहीं? चाचा जी, क्या हाल बना लिया आपने?

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 के लिए जेडीयू पार्टी के द्वारा कोई घोषणा पत्र नहीं जारी किया गया है. जेडीयू पार्टी अपने और एनडीए के लिए वोट विकास और काम पर मांग रही है. जो उन्होंने काम किए हैं और केंद्र में बीजेपी के कामों पर ही वोट की अपील कर रहे हैं. हालांकि एनडीए में बीजेपी और एलजेपी ने अपने घोषणा पत्र जारी किेए हैं. लेकिन जेडीयू ने अबतक अपना घोषणा पत्र जारी नहीं किया है.

जेडीयू के घोषणा पत्र जारी नहीं होने से विपक्ष इसे मुद्दा बना रहा है. पहले घोषणा पत्र जारी में देरी करने पर भी जेडीयू पर हमला बोला जा रहा था. लेकिन अब तक चुनाव के 6 चरण पूरे हो गए और अंतिम चरण का चुनाव होनेवाला है, लेकिन अब तक जेडीयू ने घोषणा पत्र जारी नहीं किया है. इस वजह से तेजस्वी यादव ने इसे लेकर नीतीश कुमार पर तंज कसा है कि कम से कम अंतिम चरण तक तो अपना घोषणा पत्र जारी कर दिजीए.

तेजस्वी यादव का कहना है कि नीतीश कुमार बीजेपी के डर से अपना घोषणा पत्र जारी नहीं कर रही है.

गौरतलब है कि इन दिनों नीतीश कुमार को लेकर कांग्रेस और अन्य कई दल दावा कर रहे हैं कि नीतीश कुमार एनडीए छोड़कर यूपीए ज्वाइन करेंगे. वह मौका देखकर यह काम करेंगे.