close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पत्रकार को बेरहमी से पीटने के बाद तेजप्रताप ने दर्ज कराई FIR- बोले- 'मुझे मारने की हो रही साजिश'

तेजप्रताप यादव ने अपने बांउसर और समर्थक के साथ मिलकर एक पत्रकार को बेरहमी से पीटा. वहीं, पिटाई के बाद तेजप्रताप यादव ने कहा कि उन्हें मारने की साजिश की जा रही है.

पत्रकार को बेरहमी से पीटने के बाद तेजप्रताप ने दर्ज कराई FIR- बोले- 'मुझे मारने की हो रही साजिश'
तेजप्रताप के बाउंसर ने पत्रकार की बेरहमी से पिटाई की है.

पटनाः लोकसभा चुनाव 2019 के अंतिम चरण का मतदान जारी है. इस चरण में बिहार की राजधानी पटना में मतदान के बीच आरजेडी नेता तेजप्रताप यादव ने हंगामा खड़ा कर दिया है. मतदान करने पहुंचे तेजप्रताप यादव ने अपने बांउसर और समर्थक के साथ मिलकर एक पत्रकार को बेरहमी से पीटा. वहीं, पिटाई के बाद तेजप्रताप यादव ने कहा कि उन्हें मारने की साजिश की जा रही है. उन्‍होंने इस बाबत एफआईआर भी दर्ज कराई है.

दरअसल, आरजेडी नेता तेजप्रताप यादव मतदान करने पोलिंग बूथ पर पहुंचे थे. मतदान के बाद पोलिंग बूथ के बार कुछ पत्रकार उनसे प्रतिक्रिया पूछने लगे. लेकिन इसी दौरान एक पत्रकार को तेजप्रताप की गाड़ी से धक्का लगने के बाद विवाद शुरू हो गया. विवाद के दौरान बाउंसर ने पत्रकार की पिटाई की, लेकिन इसी बीच वहां भीड़ में तेजप्रताप की गाड़ी का शीशा टूट गया.

इससे तेजप्रताप के बाउंसर समेत वहां उपस्थित समर्थक सभी पत्रकार पर टूट पड़े और जमकर पिटाई कर दी. बताया जाता है कि तेजप्रताप यादव जब पत्रकार से बात कर रहे थे तो गाड़ी के ड्राइवर ने गाड़ी आगे बढ़ा दी और एक पत्रकार को धक्का मार दिया. वहीं, इसके बाद बाउंसर पत्रकार के साथ धक्का-मुक्की करने लगे.

इस घटना के बाद तेजप्रताप यादव ने कहा है कि मेरे बाउंसरों की कोई गलती नहीं है और उन्होंने कुछ नहीं किया है. पत्रकारों ने मेरे गाड़ी का शीशा तोड़ दिया. साथ ही तेजप्रताप ने कहा कि उन्हें मारने की साजिश रची जा रही है. उन्होंने कहा कि इस बारे में प्राथमिकी भी दर्ज करा दी गई है.

 

आपको बता दें कि तेजप्रताप यादव अपने बाउंसरों के लिए पहले से चर्चा में हैं. इससे पहले अपने बाउंसरों के साथ वह विधानसभा में अवैध रूप से घुसे थे. इस बारे में अभी जांच चल रही है. इस बात पर सियासत भी शुरू हुई थी. अब एक बार फिर तेजप्रताप यादव अपने बाउसर की गुंडागिर्दी की वजह से चर्चा में हैं.

बहरहाल देखना यह है कि पुलिस इस मामले में किस तरह से कार्रवाई करती है.