close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

निरहुआ के लिए आजमगढ़ पहुंचे CM योगी, कहा- सपा ने इसे बनाया 'आतंक का गढ़'

उन्होंने कहा कि सपा-बसपा अपराध के साथ अपना डीएनए जोड़ते हैं, इसलिए बटला हाउस जैसे कांड का समर्थन करते हैं. सीएम योगी ने बताया कि जब आजमगढ़ में उन पर हमला हुआ था, उस वक्त यहां के लोग उनके साथ खड़े थे इसलिए वह आजमगढ़ के विकास पर खास ध्यान दे रहे हैं. 

निरहुआ के लिए आजमगढ़ पहुंचे CM योगी, कहा- सपा ने इसे बनाया 'आतंक का गढ़'
योगी आदित्यनाथ आजमगढ़ में जनसभा को संबोधित किया. (फोटो साभार- @BJP4UP)

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को समाजवादी पार्टी पर आरोप लगाया कि उसने आजमगढ़ को 'आतंक का गढ़' बना दिया. सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहां भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ के समर्थन में एक जनसभा में कहा, 'शिक्षा और साहित्य के कारण कभी आजमगढ़ का नाम जाना जाता था लेकिन समाजवादी पार्टी ने इसे आतंक का गढ़ बना दिया.

सपा-बसपा पर साधा निशाना
उन्होंने कहा कि सपा-बसपा अपराध के साथ अपना डीएनए जोड़ते हैं, इसलिए बटला हाउस जैसे कांड का समर्थन करते हैं. सीएम योगी ने बताया कि जब आजमगढ़ में उन पर हमला हुआ था, उस वक्त यहां के लोग उनके साथ खड़े थे इसलिए वह आजमगढ़ के विकास पर खास ध्यान दे रहे हैं.

 

बनेगा विश्वविद्यालय
उन्होंने बताया कि आजमगढ़ को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के जरिए राजधानी लखनऊ से जोड़ा जा रहा है ताकि यहां भी कारोबार का माहौल बन सके. सीएम योगी ने कहा कि आजमगढ़ में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए हमने विश्वविद्यालय बनाने का फैसला किया है.

लाइव टीवी देखें

 

प्रचंड बहुमत से होगी जीत
उन्होंने कहा कि अगर आप चाहते हैं कि भारत सुरक्षित बने तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनाएं. सीएम योगी ने कहा कि लोकसभा चुनाव के तीन चरणों के रूझान बताते हैं कि भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है. हर व्यक्ति की चाहत है कि मोदी फिर से प्रधानमंत्री बनें.

इस बार आजमगढ़ जीतना है
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में हमने 2014 में 80 में से 73 सीटें जीती थीं. इस बार का लक्ष्य 74 सीट का है और 74वीं सीट आजमगढ़ है. सीएम योगी ने कहा कि आजमगढ़ को सपा-बसपा ने आतंक और अपराध का गढ़ बनाकर बदनाम करने की जो कुचेष्टा की है, उससे उसे उबारने के लिए हम लोग आए हैं. उन्होंने कहा कि कला और संस्कृति के प्रतीक के साथ आजमगढ़ को जोड़ना है. आतंक एवं अपराध के साथ नहीं जोड़ना है.