लोकसभा चुनाव 2019: पहले चरण की वोटिंग कल, मोदी सरकार के इन 7 मंत्रियों की किस्मत दांव पर

केंद्र सरकार के 7 मंत्री, तीन पूर्व मुख्यमंत्री और 44 सांसद पहले चरण में अपना भाग्य आजमा रहे हैं.

लोकसभा चुनाव 2019: पहले चरण की वोटिंग कल, मोदी सरकार के इन 7 मंत्रियों की किस्मत दांव पर
11 अप्रैल को लोकसभा चुनावों के पहले चरण को मतदान होना है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) के पहले चरण में 91 लोकसभा सीटों और चार राज्यों की विधानसभा सीटों पर गुरुवार (11 अप्रैल) को वोट डाले जाएंगे. 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों पर कुल 1279 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के 7 मंत्रियों और 44 मौजूदा सांसदों की किस्मत दांव पर लगी है.

1. गाजियाबाद: मोदी सरकार में विदेश राज्य मंत्री का जिम्मा संभालने वाले मंत्री वीके सिंह उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद से सांसद है. बीजेपी ने दोबारा उनको इसी सीट से टिकट दिया है. 2014 के चुनाव में सिंह 5.7 लाख वोटों से जीते थे. केंद्रीय मंत्री वी.के. सिंह यहां से पुनर्निर्वाचित होने का सपना संजोए हुए हैं. सपा-रालोद-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार सुरेश बंसल और कांग्रेस उम्मीदवार डॉली शर्मा के साथ यहां मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है.

2. गौतमबुद्ध नगर: केंद्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा की किस्मत उत्त प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर संसदीय क्षेत्र से दांव पर लगी है. शर्मा का इस सीट पर कांग्रेस के अरविंद सिंह और सपा-बसपा-रालोद के सतवीर से त्रिकोणीय मुकाबला है. इस संसदीय क्षेत्र से दो निर्दलीय सहित कुल 13 उम्मीदवार मैदान में हैं.

3. बागपत: मुंबई के पुलिस कमिश्नर रह चुके पूर्व आईपीएस अफसर सत्यपाल सिंह 16वीं लोकसभा में उत्तर प्रदेश की बागपत सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनकर संसद पहुंचे थे. पीएम मोदी सरकार में उनको मानव संसाधन विकास मंत्रालय दूसरे विभागों का राज्यमंत्री बनाया गया. अब एक बार फिर सत्यपाल सिंह इसी सीट से ताल ठोक रहे हैं. जाट बाहुल्य बागपत सीट पर सत्यपाल का मुकाबला सपा-बसपा-रालोद उम्मीदवार जयंत सिंह से है. रालोद प्रमुख अजीत सिंह के बेटे जयंत पहले मथुरा लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं लेकिन 2014 चुनाव में उन्हें भाजपा की हेमामालिनी के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा था.

4. नागपुर: केंद्रीय सड़क और परिवहन समेत दूसरे विभागों के मंत्री नितिन गडकरी महाराष्ट्र के नागपुर से बीजेपी सांसद हैं. एक बार फिर इसी सीट से पार्टी ने उनको मैदान में उतारा है. पिछले आम चुनावों में गडकरी ने 2.5 लाख वोटों से फतह हासिल की थी. बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष का मुकाबला कांग्रेस के नाना पटोले से हो रहा है. पटोले हाल ही में बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए थे.

5. चंद्रपुर: महाराष्ट्र के चंद्रपुर संसदीय क्षेत्र से बीजेपी उम्मीदवार हंसराज अहीर का मुकाबला पहले में चरण में कांग्रेस के सुरेश धानोरकर से है. अहीर मोदी सरकार में केंद्रीय गृहराज्य मंत्री की भूमिका निभा रहे हैं.  2014 के चुनाव में हंसराज ने 2.36 लाख वोटों से जीत हासिल की थी.   

6. अरुणाचल पश्चिम: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार में गृह राज्य मंत्री का जिम्मा संभाल रहे मंत्री किरेन रिजिजू इस बार भी अरुणाचल पश्चिम संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार हैं. रिजिजू ने 2014 के चुनावों में 41 हजार हजार से ज्यादा वोटों से कांग्रेस के ताकम संजॉय को हराया था.

7. अल्मोड़ा: कपड़ा राज्यमंत्री अजय टम्टा एक बार फिर उत्तराखंड की अल्मोड़ा संसदीय सीट से बीजेपी उम्मीदवार है. टम्टा ने 2014 के आम चुनाव में कांग्रेस के प्रदीप टम्टा को एक लाख से ज्यादा वोटो से हराया था.