close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शशि थरूर से मिलने पहुंचीं सीतारमण, लेकिन ट्रोल हुए राहुल गांधी, जानिए क्या है मामला

दिवंगत नेता मनोहर पर्रिकर ने उस समय राहुल गांधी के इस बयान पर पलटवार करते हुए एक पत्र लिखा था.

शशि थरूर से मिलने पहुंचीं सीतारमण, लेकिन ट्रोल हुए राहुल गांधी, जानिए क्या है मामला
फाइल फोटो

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) का सियासी रण अपने चरम पर है. इस दौरान कांग्रेस सांसद और तिरुवनंतपुरम से उम्मीदवार शशि थरूर ने मंगलवार को एक फोटो शेयर की, जिसमें रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण उन्हें अस्पताल में देखने आई थीं. इस तस्वीर पर लोगों ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यह भारतीय राजनीति की खूबसूरती को दर्शाती है. लेकिन, इस तस्वीर को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लगातार ट्रोल किया जा रहा है. चौंकिए मत, हम सही कह रहे हैं, इस फोटो को लेकर राहुल गांधी पर निशाना साधा जा रहा है. 

 

 

दरअसल, इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए शशि थरूर ने लिखा कि केंद्रीय मंत्री सीतारमण के इस स्वाभाव से मैं काफी भावुक हुआ, जो आज सुबह अपने व्यस्त चुनावी दौरों से समय निकालकर वह मेरा हाल-चाल लेने अस्पताल आईं. उनका ये स्वभाव देकर मुझे अच्छा लगा, भारतीय राजनीति में ये शिष्टाचार का एक उदाहरण है. थरूर के इस ट्वीट पर सुहाना तिवारी नाम की एक यूजर ने लिखा कि यह हमारी रक्षा मंत्री हैं और हमें इन पर गर्व है. इसके जवाब में महिला कांग्रेस की महासचिव नेट्टा डिसूजा (Netta D'Souza) ने लिखा कि यह कांग्रेस के नेता हैं, जो बिना किसी लाग-लपेट के सही को सही कहते हैं. भारतीय राजनीति में ऐसे लोगों की संख्या बढ़नी चाहिए.    

 

 

नेट्टा डिसूजा के इस ट्वीट पर यूजर सुहाना तिवारी ने लिखा कि मैं माफी चाहती हूं लेकिन मुझे याद है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जब मनोहर पर्रिकर से मिलने गए थे तो उन्होंने (राहुल) एक कैंसर के मरीज को कुछ खुशी के पल देने की बजाय उन्हें (पर्रिकर) दुख ही पहुंचाया था. राहुल गांधी ने कहा था कि पर्रिकर जी ने मुझे राफेल के बारे में बताया, जब मैं उनसे मिला. गौरतलब है कि राहुल गांधी ने दिवंगत मनोहर पर्रिकर से मुलाकात के बाद राफेल मामले पर बातचीत की बात कही थी. 

दिवंगत मनोहर पर्रिकर ने भी राहुल को लिया था आड़े हाथ
दिवंगत नेता मनोहर पर्रिकर ने उस समय राहुल गांधी के इस बयान पर पलटवार करते हुए एक पत्र लिखा था. पर्रिकर ने पत्र में राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि मेरे साथ बिताए गए 5 मिनटों का आप दुरुपयोग न करें. उस समय वर्तमान अमेठी लोकसभा सीट से बीजेपी की प्रत्याशी स्मृति ईरानी ने भी कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधा था. स्मृति ईरानी ने लिखा था कि शिष्टाचार का बहाना बना के ये किस संस्कार का परिचय दिया राहुल गांधी ने. अपने राजनीतिक लाभ के लिए किस हद तक गिर सकते हैं राहुल ये इसका प्रमाण है.   

 

 

सिर में आए हैं 6 टांके
तुलाभारम का संस्कार के दौरान घायल होने के बाद कांग्रेस नेता को प्रारंभिक इलाज के लिए तुरंत पास के अस्पताल लेकर जाया गया, जहां से उन्हें सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल में शिफ्ट किया गया. बताया जा रहा है कि उनके सिर पर छह टांके लगाए गए हैं. जिस वक्त यह संस्कार चल रहा था उसी दौरान तराजू की चेन टूट गई और कांग्रेस नेता के सिर में चोट लग गई. शशि थरूर अपने प्रचार अभियान के दौरान ऐसे कई कार्यक्रमों में लगातार शिरकत करते रहे हैं.