close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भोपाल की जंग में मतदान प्रतिशत ने बढ़ाई राजनीतिक दलों की चिंता, 62 सालों में सबसे अधिक वोटिंग

अब यहां कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह जीतेंगे या साध्वी प्रज्ञा इसकी भी चर्चाओं से बाजार गर्म है. इससे पहले भोपाल में 1957 में सबसे अधिक वोटिंग हुई थी, जिसमें 65% मतदान हुआ था. तब कांग्रेस की मैमुना सुल्तान चुनाव जीती थीं. 

भोपाल की जंग में मतदान प्रतिशत ने बढ़ाई राजनीतिक दलों की चिंता, 62 सालों में सबसे अधिक वोटिंग
फाइल फोटो

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के छठे चरण के चुनाव में भोपाल लोकसभा क्षेत्र में हुए मतदान प्रतिशत ने सभी राजनीतिक दलों की चिंता बढ़ा दी है. सबसे हाई प्रोफाइल सीटों में गिनी जा रही भोपाल लोकसभा सीट पर पिछले 60 सालों में सबसे अधिक वोटिंग हुई है. चिलचिलाती धूप और गर्मी के बावजूद यहां 65.69% मतदान हुए हैं. अब यहां कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह जीतेंगे या साध्वी प्रज्ञा इसकी भी चर्चाओं से बाजार गर्म है. इससे पहले भोपाल में 1957 में सबसे अधिक वोटिंग हुई थी, जिसमें 65% मतदान हुआ था. तब कांग्रेस की मैमुना सुल्तान चुनाव जीती थीं. 

बढ़े हुए मतदान प्रतिशत के बाद देश-प्रदेश में भोपाल को लेकर चर्चा तेज हो गई है कि आखिर भोपाल का धर्म युद्ध कौन जीतेगा. 2014 में 57.79 फीसदी मतदान हुआ था. इससे पहले सिर्फ दो बार ही ऐसे मौके आए हैं जब मतदान प्रतिशत 60 के ऊपर पहुंचा है. पहली बार 1977 मे इमरजेंसी के बाद हुए चुनाव में 61.76% और दूसरी बार 1999 मे 61.88% मतदान हुआ. अतिरिक्त किसी भी चुनाव में वोटिंग का आंकड़ा 60 फीसदी से अधिक नही पहुंचा. 1957 में पहली बार लोकसभा का चुनाव हुआ था जिसमें कांग्रेस की मैमुना सुल्तान जीती थीं. इमरजेंसी के बाद 1977 के चुनाव में 60 फीसदी से ज्यादा वोटिंग हुई थी. जिसमें भारतीय लोकदल के आरिफ बैग चुनाव जीते थे.

रैली में साध्वी प्रज्ञा को अनोखे अंदाज में मिला जनता का प्यार, किसी ने चावल, तो किसी ने दिए 101 रुपये

इसके अलावा 1999 में 60% से ज्यादा वोटिंग हुई थी, जिसमें उमा भारती ने कांग्रेस के सुरेश पचौरी को चुनाव हराया था. ऐसे में अब बीजेपी और कांग्रेस के दिग्गज वोट प्रतिशत बढ़ने पर गुना भाग करने में जुटे हैं. 15 साल बाद दिग्विजय चुनावी राजनीति में मैदान में हैं तो BJP ने उनके सामने हिंदुत्व कार्ड खेलकर साध्वी प्रज्ञा को मैदान में उतारकर मुकाबला रोचक कर दिया है.

https://hindi.cdn.zeenews.com/hindi/sites/default/files/2019/05/08/378646-prdi.jpg

लोकसभा चुनाव 2019: जनता से हाथ जोड़कर वोट मांगते रहे दिग्विजय और खुद नहीं किया मतदान

कहां कितने प्रतिशत मतदान
बैरसिया विधानसभा में 76.13 प्रतिशत मतदान हुआ, भोपाल उत्तर विधानसभा में 66.77 प्रतिशत, नरेला विधानसभा में 64.91 प्रतिशत, भोपाल दक्षिण पश्चिम विधानसभा में 59.41 प्रतिशत, भोपाल मध्य विधानसभा में 59.26 प्रतिशत, गोविंदपुरा विधानसभा में 59.86 प्रतिशत, हुजूर विधानसभा में 67.61 प्रतिशत मतदान और सीहोर विधानसभा में 77.01 प्रतिशत मतदान हुए हैं.