close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ममता के गढ़ में लेफ्ट का नहीं खुला खाता, बीजेपी ने लहराया भगवा, 42 में से 18 सीटें जीती

बीजेपी ने बंगाल में बेहतरीन प्रदर्शन कर 42 संसदीय सीटों में से 18 जीत कर प्रदेश में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की बेचैनी बढ़ा दी है.

ममता के गढ़ में लेफ्ट का नहीं खुला खाता, बीजेपी ने लहराया भगवा, 42 में से 18 सीटें जीती
फोटो साभारः PTI

कोलकाता: देश भर में अपने शानदार प्रदर्शन की तरह पश्चिम बंगाल में भी भाजपा ने बेहतरीन प्रदर्शन कर 42 संसदीय सीटों में से 18 जीत कर प्रदेश में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की बेचैनी बढ़ा दी है. टीएमसी को 22 सीटों पर जीत हासिल हुई जबकि कांग्रेस के खाते में दो सीटें गईं लेकिन तीन दशक से ज्यादा समय तक राज्य की सत्ता पर काबिज रहे वाम दल राज्य में अपना खाता भी नहीं खोल पाए. ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पार्टी ने 2014 के चुनावों में 34 सीटें जीती थीं और इस बार उसका लक्ष्य इस आंकड़े को और बेहतर करने पर था लेकिन नतीजे उसके लिये किसी झटके से कम नहीं हैं क्योंकि भाजपा ने राज्य में 16 सीटों का इजाफा किया है.

2014 में उसे दो सीटें हासिल हुई थीं. भाजपा ने राज्य में मत प्रतिशत के मामले में भी पहले के मुकाबले अपनी स्थिति मजबूत की है और उसे कुल पड़े मतों के 40.25 फीसद मत मिले जबकि तृणमूल कांग्रेस को 43.3 फीसद मत मिले. भाजपा 18 लोकसभा सीटें जीतने के साथ ही 22 सीटों पर दूसरे स्थान पर रही है. कांग्रेस ने बहरामपुर और मालदा दक्षिण सीट बरकरार रखी है जबकि उसे दो अन्य सीटों पर हार का मुंह देखना पड़ा जो पिछले चुनावों में उसके पास थीं.

भाजपा का ज्यादा प्रभाव उत्तरी बंगाल और कभी माओवाद प्रभावित जंगलमहल इलाके में देखने को मिला जहां उसने विपक्षी दलों का सूपड़ा साफ कर दिया. भाजपा ने अलीपुरद्वार, कूचबिहार, जलपाईगुड़ी, दार्जीलिंग, रायगंज, बालुरघाट और मालदा उत्तर सीट जीती जबकि मालदा दक्षिण उसने कड़े मुकाबले के बाद गंवाई.

भगवा दल जंगलमहल और उससे लगे इलाकों में भी प्रभावी रहा. उसने यहां झारग्राम, मेदिनीपुर, पुरुलिया, बांकुड़ा और विष्णुपुर संसदीय सीट पर कब्जा जमाया. केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने आसनसोल सीट पर अपने जीत के अंतर को बढ़ाया है जबकि उनके कैबिनेट सहयोगी एस एस अहलूवालिया ने तृणमूल से बर्दवान-दुर्गापुर सीट जीती.

टीएमसी ने दक्षिण बंगाल में अपनी पकड़ को बरकरार रखा और इस पट्टी से अधिकतर सीटें जीतीं. उसने प्रदेश की राजधानी की दोनों सीटों, कोलकाता उत्तर व कोलकाता दक्षिण पर जीत हासिल की. डायमंड हार्बर सीट पर उसके मौजूदा सांसद अभिषेक बनर्जी ने भाजपा के नीलांजन रॉय पर तीन लाख 20 हजार से ज्यादा मतों के साथ जीत दर्ज की.

टीएमसी उम्मीदवार और मौजूदा सांसद अपरूपा पोद्दार अपनी आरामबाग सीट महज 1,142 मतों के अंतर से बचा पाईं. भाजपा के तपन कुमार रॉय ने उन्हें कड़ी टक्कर दी. उत्तरी बंगाल की अलीपुर द्वारा सीट से भाजपा के जॉन बारला बड़े अंतर से चुनाव जीते. वहीं जलपाईगुड़ी सीट से भाजपा उम्मीदवार जयंत कुमार रॉय ने तृणमूल के मौजूदा सांसद विजय चंद्र वर्मन को शिकस्त दी.

मालदा दक्षिण सीट से कांग्रेस उम्मीदवार और मौजूदा सांसद अबु हासम खान चौधरी अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे. उन्होंने भाजपा उम्मीदवार श्रीरूपा मित्रा चौधरी को शिकस्त दी. बहरामपुर में कांग्रेस उम्मीदवार और मौजूदा सांसद अधीर रंजन चौधरी ने तृणमूल कांग्रेस की अपूर्बा सरकार को 80 हजार से ज्यादा मतों के अंतर से शिकस्त दी.