आईओसी की उधारी 79,000 करोड़ से अधिक

डीजल, घरेलू रसोई गैस और राशन में बिकने वाले मिट्टी तेल की उनकी बाजार मूल्य से कम दाम पर बिक्री कर रही इंडियन ऑयल कापरेरेशन की बाजार उधारी 79,000 करोड़ रुपये से उपर निकल गई है।

नई दिल्ली : डीजल, घरेलू रसोई गैस और राशन में बिकने वाले मिट्टी तेल की उनकी बाजार मूल्य से कम दाम पर बिक्री कर रही इंडियन ऑयल कापरेरेशन की बाजार उधारी 79,000 करोड़ रुपये से उपर निकल गई है।

 

सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल कापरेरेशन (आईओसी) के चेयरमैन आर.एस. बुटोला ने यहां संवाददाताओं से कहा, वर्तमान में कंपनी की उधारी 79,000 करोड़ रुपये से उपर निकल चुकी है।

 

डीजल, घरेलू रसोई गैस और मिट्टी तेल के बाजार मूल्य से कम दाम पर बिक्री से कंपनी को दैनिक 227 करोड़ रुपये की कमाई का नुकसान हो रहा है। कंपनी को अगले महीने की शुरुआत में सरकार से उसके नुकसान की आंशिक भरपाई के लिए 16,000 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद कर रही है।

 

संसद ने सरकार के अतिरिक्त खर्च को मंजूरी दे दी। इसमें सरकारी क्षेत्र की तेल कंपनियों को सब्सिडी के तौर पर 30,000 करोड़ रुपये की राशि को भी मंजूरी दी गई है। पेट्रोलियम विपणन क्षेत्र की अग्रणी कंपनी इंडियन ऑयल को इसमें से 16,000 करोड़ रुपये की प्राप्ति होगी।   (एजेंसी)