close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चीनी के आयात शुल्क में बढ़ोतरी से चीनी होगी महंगी !

सरकार ने चीनी पर आयात शुल्क 10 से बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दिया है जिससे इस जिंस का आयात महंगा हो गया है। इस कदम से आम आदमी के लिए भी चीनी महंगी हो सकती है।

नई दिल्ली : सरकार ने चीनी पर आयात शुल्क 10 से बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दिया है जिससे इस जिंस का आयात महंगा हो गया है। इस कदम से आम आदमी के लिए भी चीनी महंगी हो सकती है।
सरकार ने गन्ना किसानों का 9,000 करोड़ रुपये का बकाया चुकाने में चीनी मिलों की मदद की दृष्टि से करने के इरादे से यह कदम उठाया है। केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार कच्ची और रिफाइंड दोनों प्रकार की चीनी पर आयात शुल्क की दर बढ़ाकर 15 प्रतिशत की गई है।
चीनी के आयात की वजह से घरेलू स्तर पर इसकी कीमतें मंदी पड़ रही थीं और चीनी मिलों के लिए गन्ना किसानों का बकाया चुकाना मुश्किल हो रहा था। उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर प्रदेश की चीनी मिलें फिलहाल थोक व्यापारियों को चीनी की बिक्री उत्पादन लागत से भी कम दर पर कर रही हैं। आयात शुल्क में बढ़ोतरी का मकसद चीनी के आयात पर अंकुश लगाना तथा घरेलू बाजार में चीनी कीमतों में नरमी की धारणा पर अंकुश लगाना है। हालांकि, इस कदम से देशभर में चीनी की कीमतों में बढ़ोतरी होगी।
दिल्ली में इस समय खुली चीनी का दाम 40 रपये किलोग्राम और पैकेटबंद का दाम 50 रुपये किलोग्राम चल रहा है। वित्त मंत्री पी चिदंबरम, कृषि मंत्री शरद पवार तथा खाद्य मंत्री के वी थॉमस के बीच 4 जुलाई को हुई बैठक में आयात शुल्क की समीक्षा की गई थी। (एजेंसी)