न्यूनतम पेंशन 1000 रुपये तय होगी!

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के शीर्ष निर्णय निकाय केन्द्रीय न्यासी बोर्ड की बैठक 22 फरवरी को होनी है जिसमें अंशधारकों के लिए न्यूनतम 1,000 रुपये प्रति माह की पेंशन तय किए जाने की संभावना है।

नई दिल्ली: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के शीर्ष निर्णय निकाय केन्द्रीय न्यासी बोर्ड की बैठक 22 फरवरी को होनी है जिसमें अंशधारकों के लिए न्यूनतम 1,000 रुपये प्रति माह की पेंशन तय किए जाने की संभावना है।

 

सीबीटी 22 फरवरी को प्रस्तावित बैठक में अंशधारकों के लिए न्यूनतम 1,000 रुपये प्रति माह के पेंशन के प्रस्ताव पर निर्णय करेगा। सीबीटी ने इससे पहले 23 दिसंबर को हुई बैठक में इस मामले पर निर्णय टाल दिया था।सूत्रों ने कहा कि यद्यपि बैठक के लिए एजेंडा अभी तय किया जाना है, यह मुद्दा चर्चा के लिए सामने आएगा।

 

ईपीएफओ आंकड़ों के मुताबिक, 31 मार्च, 2010 तक 35 लाख पेंशनभोगी इस कोष के अंशधारक थे जिसमें से 14 लाख लोगों को 500 रुपये से भी कम का मासिक पेंशन मिलता है। वहीं 1,000 रुपये प्रति माह पेंशन पाने वाले लोगों की संख्या 7 लाख है।

 

आंकड़ों से पता चलता है कि ऐसे मामले भी हैं जहां पेंशनभोगियों को 12 रुपये प्रति माह और 38 रुपये प्रति माह तक का मासिक पेंशन मिल रहा है। हालांकि नियोक्ताओं एवं कर्मचारियों के प्रतिनिधि न्यूनतम 1,000 रुपये प्रति माह पेंशन तय करने पर राजी हैं, इसके लिए आवश्यक अतिरिक्त कोष जुटाने के साधनों पर कोई निर्णय नहीं किया गया। (एजेंसी)