बसों-ट्रकों की एक अप्रैल से हड़ताल!

आल इंडिया मोटर ट्रासंपोर्ट कांग्रेस ने अपनी मांगों के समर्थन में एक अप्रैल से हड़ताल पर जाने की चेतावनी आज फिर दी। संगठन का कहना है कि सरकार ने उसकी मांगे नहीं मानी तो एक अप्रैल से 75 लाख ट्रक तथा 40 लाख बसें सड़क पर नहीं उतरेंगी।

नई दिल्ली : आल इंडिया मोटर ट्रासंपोर्ट कांग्रेस ने अपनी मांगों के समर्थन में एक अप्रैल से हड़ताल पर जाने की चेतावनी आज फिर दी। संगठन का कहना है कि सरकार ने उसकी मांगे नहीं मानी तो एक अप्रैल से 75 लाख ट्रक तथा 40 लाख बसें सड़क पर नहीं उतरेंगी।
संगठन डीजल कीमतों में वृद्धि तथा थर्ड पार्टी बीमा प्रीमियम में बढोतरी को वापस लेने की मांग कर रहा है। इसके अलावा संगठन टायरों के आयात पर लगे डंपिंगरोधी शुल्क को वापस लेने की मांग कर रहा है। संगठन का कहना है कि इस बारे में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के साथ हुई कई दौर की बातचीत विफल रही है।
ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के अध्यक्ष बाल मलकीत सिंह ने संवाददाताओं से कहा, सरकार अगर हमारी मांगों को 30 मार्च तक पूरा नहीं करती है तो हम 75 लाख ट्रकों तथा 40 लाख बसों को सड़क पर नहीं उतारने को मजबूर होंगे। उन्होंने कहा कि अगर देशव्यापी हड़ताल हुई तो अर्थव्यवस्था को 2,200 करोड़ रुपये प्रतिदिन का नुकसान होगा। संगठन के उपाध्यक्ष कुलतरण सिंह अटवाल ने कहा कि आपरेटर दिल्ली में ही 20 लाख परमिट लौटाने को मजबूत होंगे। (एजेंसी)