यूएस में कोयला खान का अधिग्रहण करेगी टाटा

देश की निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी बिजली उत्पादक कंपनी टाटा पावर अमेरिका और कोलंबिया में कोयला खानों के अधिग्रहण की संभावना तलाश रही है।

नई दिल्ली : देश की निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी बिजली उत्पादक कंपनी टाटा पावर अमेरिका और कोलंबिया में कोयला खानों के अधिग्रहण की संभावना तलाश रही है। टाटा पावर के प्रबंध निदेशक अनिल सरदाना ने आज यह जानकारी दी।
फिलहाल टाटा पावर की स्थापित क्षमता 6,099 मेगावाट की है।
इसके अलावा वह गुजरात के मुंदड़ा में 4,000 मेगावाट की कोयला आधारित अल्ट्रा मेगा बिजली परियोजना का विकास कर रही है। सरदाना ने कहा कि कंपनी अमेरिका, कोलंबिया और अफ्रीका में कोयला परिसंपत्तियों का अधिग्रहण करने की संभावना तलाश रही है। कंपनी के पास इंडोनेशिया में कोयला खदान पहले से है।
यहां सीआईआई द्वारा आयोजित स्वच्छ कोयला सम्मेलन के मौके पर सरदाना ने संवाददाताओं से कहा कि कंपनी वियतनाम और म्यांमा में बिजली संयंत्रों की स्थापना पर विचार रही है। उन्होंने बताया कि कंपनी का इरादा 2020 तक पांच करोड़ टन कोयले का आयात करने का है। उन्होंने कहा कि टाटा पावर चालू वित्त वर्ष में एक करोड़ टन कोयले के आयात पर विचार कर रही है। सरदाना ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में अब तक हमने 70 लाख टन कोयले का आयात किया है। (एजेंसी)