सब्जियों ने बढ़ाई महंगाई, जून में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 9.87%

सब्जियों और खाद्य वस्तुओं के दाम चढ़ने से जून माह में खुदरा मुद्रास्फीति की दर बढ़कर 9.87 प्रतिशत पर पहुंच गई। इससे पिछले महीने यह 9.31 प्रतिशत पर थी।

नई दिल्ली : सब्जियों और खाद्य वस्तुओं के दाम चढ़ने से जून माह में खुदरा मुद्रास्फीति की दर बढ़कर 9.87 प्रतिशत पर पहुंच गई। इससे पिछले महीने यह 9.31 प्रतिशत पर थी।
उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति में बढ़ोतरी इसमें लगातार तीन माह की गिरावट के बाद दर्ज हुई है।
आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, जून में खाद्य मुद्रास्फीति भी बढ़कर 11.84 प्रतिशत पर पहुंच गई, जो इससे पिछले महीने 10.65 प्रतिशत पर थी। सबसे ज्यादा महंगाई सब्जियों में देखने को मिली। पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में इस साल जून में सब्जियां 14.55 प्रतिशत महंगी रहीं। वहीं फलों की कीमतों में भी उल्लेखनीय इजाफा हुआ।
विशेषज्ञों का कहना है कि जून में बारिश की वजह से आमतौर पर फल और सब्जियां महंगी हो जाती हैं। प्रोटीन युक्त उत्पादों मसलन अंडा, मछली और मांस के दाम भी जून में बढ़ गए। हालांकि दालों की कीमतों में हल्की नरमी देखने को मिली।
वहीं मोटे अनाज तथा इसी तरह के अन्य उत्पादों की कीमतें 17.59 प्रतिशत अधिक थीं। मई में इस वर्ग में महंगाई 16.29 प्रतिशत अधिक थी।
मई में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति साढ़े तीन साल के निचले स्तर 4.7 प्रतिशत पर आ गई है। जून माह के महंगाई के आंकड़े 15 जुलाई को जारी होंगे।
भारतीय रिजर्व बैंक अपनी मौद्रिक समीक्षा में महंगाई के आंकड़ों पर ध्यान देता है। केंद्रीय बैंक पहली तिमाही की मौद्रिक समीक्षा 30 जुलाई को पेश करेगा।
उद्योग जगत आर्थिक गतिविधियों को प्रोत्साहन के लिए नीतिगत दरों में कटौती की मांग कर रहा है। मई में औद्योगिक उत्पादन भी 1.6 प्रतिशत घट गया है। (एजेंसी)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.