IOC जल्‍द बढ़ाएगा पेट्रोल के दाम!

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) पेट्रोल के दाम जल्‍द बढ़ा सकता है। आईओसी ने सरकार से तेल कीमतों में वृद्धि की मांग की है।

नई दिल्‍ली: इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) पेट्रोल के दाम जल्‍द बढ़ा सकता है। आईओसी ने सरकार से तेल कीमतों में वृद्धि की मांग की है। आईओसी ने कहा कि उसे पेट्रोल की बिक्री पर 8.04 रुपये प्रति लीटर का नुकसान हो रहा है। ऐसे में अगर केंद्र सरकार भरपाई नहीं करेगी, वह पेट्रोल की कीमतों में इजाफा करेगी।

 

इंडियन आयल का कहना है कि पेट्रोल पर हो रहे नुकसान के चलते इसके दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है। दिनोंदिन नुकसान की मात्रा बढ़ती जा रही है। इन परिस्थितियों में यदि सरकार ने भरपाई नहीं की तो दाम बढ़ाएंगे।

 

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों ने सरकार को एक तरह से अल्टिमेटम देते हुए कहा है कि अगर उत्पाद शुल्क में कमी या ईंधन की बिक्री पर उन्हें 49 करोड़ रुपये रोजाना हो रहे नुकसान की भरपाई नहीं की गयी तो वे पेट्रोल की कीमत में 9.6 रुपये प्रति लीटर तक की वृद्धि कर सकती हैं। इंडियन ऑयल कारपोरेशन के चेयरमैन आरएस बुटोला ने यहां कहा कि हमने काफी धर्य रखा है। उत्पादन लागत बढ़ने के बावजूद दिसंबर से कीमत नहीं बढ़ायी गयी। लेकिन कर्ज लेने तथा देश के ईंधन उत्पादित करने की हमारी सीमा है।

 

आईओसी, हिंदुस्तान पेट्रोलियम तथा भारत पेट्रोलियम को पेट्रोल की बिक्री पर 49 करोड़ रुपये रोजाना का नुकसान हो रहा है। इसके अलावा डीजल, घरेलू एलपीजी तथा केरोसीन लागत से कम मूल्य पर बेचने से हर दिन 573 करोड़ रुपये का और नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष अप्रैल के पहले पखवाड़े में पेट्रोल पर तेल विपणन कंपनियों को 745 करोड़ रुपये की आय का नुकसान हुआ।

 

उल्लेखनीय है कि सरकार ने पेट्रोल की कीमत जून 2010 में नियंत्रण मुक्त कर दी थी लेकिन उसके बाद भी शायद ही तेल कंपनियों की लागत के अनुरूप तेल की कीमतें बढाई गयी हों क्योंकि तेल कंपनियां सरकार के निर्देश के आगे झुक जाती हैं।

(एजेंसी)