उथप्पा का शतक, न्यूजीलैंड-ए को 6 विकेट से हराया

सलामी बल्लेबाज रोबिन उथप्पा के आकर्षक शतक और कप्तान उन्मुक्त चंद के साथ उनकी पहले विकेट की बड़ी साझेदारी की मदद से भारत ‘ए’ ने शनिवार को यहां पहले एकदिवसीय क्रिकेट मैच में न्यूजीलैंड ‘ए’ को 35 गेंद शेष रहते हुए छह विकेट से हराया।

विशाखापट्टनम : सलामी बल्लेबाज रोबिन उथप्पा के आकर्षक शतक और कप्तान उन्मुक्त चंद के साथ उनकी पहले विकेट की बड़ी साझेदारी की मदद से भारत ‘ए’ ने शनिवार को यहां पहले एकदिवसीय क्रिकेट मैच में न्यूजीलैंड ‘ए’ को 35 गेंद शेष रहते हुए छह विकेट से हराया। न्यूजीलैंड ए ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 49 . 4 ओवर में 257 रन बनाये। उसकी तरफ से डेरिल मिशेल ने 51, एंटन डेविच ने 48, कार्ल काचोपा ने 45 और टाम लैथम ने 37 रन बनाये।
भारत के तेज और स्पिन मिश्रित आक्रमण के सामने उसका कोई भी बल्लेबाज अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा पाया। भारत ए के लिये धवल कुलकर्णी, अशोक मनेरिया और राहुल शर्मा ने तीन-तीन विकेट लिये। इसके बाद उथप्पा और उन्मुक्त ने कीवी आक्रमण की धज्जियां उड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।
उथप्पा ने 114 गेंद पर आठ चौकों और पांच छक्कों की मदद से 103 रन बनाये। उन्मुक्त शतक से चूक गये लेकिन उनकी 94 रन की पारी बेहद आकर्षक थी। उन्होंने 88 गेंद खेली तथा नौ चौके और छह छक्के लगाये। इन दोनों ने पहले विकेट के लिये केवल 30 ओवर में 178 रन की साझेदारी की जिससे भारत ए 44.1 ओवर में चार विकेट पर 261 रन पर पहुंचकर तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त बनाने में कामयाब रहा।
उन्मुक्त पिछले दो मैच में नहीं चल पाये थे और इसलिए उन्होंने शुरू में सतर्कता बरती। ऐसे में उथप्पा ने रन बनाने का जिम्मा बखूबी उठाया। पहले दस ओवर में भारत ने 48 रन जोड़े जिसमें उथप्पा का योगदान 35 रन था। उन्मुक्त ने इसके बाद कोरे एंडरसन पर दो चौके जड़कर हाथ खोले और फिर ईश सोढ़ी की गेंद छह रन के लिये भेजी।
सोढ़ी ने अपने आठ ओवर में 66 रन दिये। उन्मुक्त ने एक ओवर में दो छक्कों और एक चौके की मदद से 16 रन बटोकर उन्हें आक्रमण से हटवा दिया। वह नये गेंदबाज मुनरो पर दो चौके लगाकर उथप्पा से आगे निकले। इसके बाद वह डेविच पर दो चौके और छक्का जड़कर 90 रन के पार पहुंचे। वह इसी ओवर में मिडविकेट पर छक्का जड़कर अपना शतक पूरा करना चाहते थे लेकिन लैथम ने तेज दौड़कर उसे कैच में बदल दिया।
उथप्पा ने इसके बाद मैट हेनरी पर लगातार दो छक्के लगाये। उन्हें 93 रन के निजी योग पर जीवनदान भी मिला। उन्होंने एडम मिलन की गेंद मिडविकेट पर छह रन के लिये भेजकर लिस्ट ए में अपना 11वां शतक पूरा किया। वह इसके तुरंत बाद डीप फाइन लेग पर कैच दे बैठे। मिलन ने उन्हें आउट करने के बाद मनदीप सिंह ( 1) और मनेरिया (शून्य) को पवेलियन भेजा।
मिलन ने 43 रन देकर तीन विकेट लिये। आदित्य तारे 37 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि केदार जाधव (नाबाद 15) ने विजयी चौका लगाया। इससे पहले न्यूजीलैंड ए के अधिकतर बल्लेबाज अच्छी शुरुआत का फायदा उठाने में नाकाम रहे।
भारत के तेज और स्पिन मिश्रित आक्रमण के सामने वह बड़ी साझेदारियां नहीं निभा पाये। इसके अलावा मध्यक्रम लड़खड़ाने से भी उसकी टीम बल्लेबाजी के लिये अनुकूल पिच पर 300 रन तक नहीं पहुंच पायी। (एजेंसी)