एक्टिंग में अच्छी नहीं हूं, रिंग में ही ठीक हूं : मैरीकाम

फिल्मकार संजय लीला भंसाली ने महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकाम की जिंदगी से प्रभावित होकर फिल्म बनाने का फैसला किया है लेकिन इस मणिपुरी खिलाड़ी ने फिल्म में किसी भी तरह की भूमिका निभाने से इंकार कर दिया।

नई दिल्ली : फिल्मकार संजय लीला भंसाली ने लंदन ओलंपिक कांस्य पदकधारी और पांच बार की विश्व चैम्पियन महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकाम की जिंदगी से प्रभावित होकर फिल्म बनाने का फैसला किया है लेकिन इस मणिपुरी खिलाड़ी ने फिल्म में किसी भी तरह की भूमिका निभाने से इंकार कर दिया।
मैरीकाम को लंदन ओलंपिक की उपलब्धि के बाद आज यहां मंहिद्रा एंड महिंद्रा के प्रमुख मार्केंटिंग अधिकारी विवेक नायर ने एसयूवी ‘बोलेरो’ गाड़ी देकर सम्मानित किया। इस महिला मुक्केबाज ने कुछ दिन पहले इस फिल्म के संबंध में मुंबई में संजय लीला भंसाली से मुलाकात भी की थी। यह पूछने पर कि क्या वह इस फिल्म में कोई भूमिका अदा करेंगी तो मैरीकाम ने कहा, ‘नहीं, मैं एक्टिंग में अच्छी नहीं हूं। मैं रिंग में ही ठीक हूं।’ उन्होंने कहा, ‘एक्टिंग करना मेरे लिए मुश्किल होगा। मैं स्पीच देने में अच्छी नहीं हूं।’ हालांकि मैरीकाम का किरदार कौन निभाएगा, इसका फैसला नहीं हो पाया है लेकिन फिल्म के बारे में उन्होंने कहा, ‘यह फिल्म युवा मुक्केबाजों को प्रेरणा देने के लिए अच्छी होगी। मैं हालांकि नहीं जानती कि इसमें मेरा किरदार कौन निभाएगा। लेकिन उन्हें मुझसे जिस भी तरह की मदद की जरूरत होगी, मैं हमेशा इसके लिए तैयार रहूंगी।’
यह पूछने पर कि क्या इतने सारे समारोहों से उनकी फिटनेस पर कोई असर पड़ा है और क्या उनकी जिंदगी में ग्लैमर का तड़का कुछ ज्यादा नहीं हो गया, इस पर मैरीकाम ने कहा, ‘हां, लंदन से आने के बाद मैं कई सारे सम्मान समारोहों में गई हूं। लेकिन मैरी हमेशा मैरी ही है और हमेशा मैरी ही रहेगी। लोग इन समारोहों में मेरा समर्थन कर रहे हैं, मुझे कई पुरस्कार मिल रहे हैं, यह अच्छा लगता है। मैं सिर्फ मुक्केबाजी के लिए ही बनी हूं, इसकी वजह से ही यह सब मुझे मिला है और यह सब हो रहा है।’
मैरीकाम ने कहा, ‘मेरे मुक्केबाजी करियर पर इसका कोई असर नहीं पड़ रहा है। मैं पूरी तरह शारीरिक और मानसिक रूप से फिट हूं। अभी कोई टूर्नामेंट भी नहीं है तो इसलिए मुझे इन फैशन शो या टीवी शो से कोई समस्या नहीं है। समय मिलता है तो फिट होने के लिए ट्रेनिंग करती हूं। अगर नेक काम के लिए मुझे बुलाया जा रहा है तो मैं हमेशा ही इसका समर्थन करूंगी।’ हाल में मैरीकाम टीवी शो में भी दिखायी दीं तो क्या उन्हें किसी तरह के ‘रिएलिटी शो’ या ‘डांस शो’ की पेशकश हुई तो उन्होंने कहा, ‘नहीं इस तरह के किसी शो की पेशकश नहीं हुई है।’ क्या मैरीकाम ‘डांस शो’ में भाग लेना पंसद करेंगी तो उन्होंने कहा, ‘मुझे डांस करना बहुत पंसद है।’
जब उनसे यह पूछा गया कि वह अपने बच्चों को निशानेबाज क्यों बनाना चाहती हैं जबकि वह खुद एक मुक्केबाज हैं तो उन्होंने मुस्कुराते हुए जवाब दिया, ‘एक मां नहीं चाहेगी कि उसके बच्चे को किसी तरह की चोट पहुंचे क्योंकि मुक्केबाजी में हमेशा चोटें लगती रहती हैं इसलिए मैं चाहती हूं कि वे निशानेबाज बनें। हालांकि इसके लिए उनपर कोई दबाव नहीं होगा। वे जो चाहेंगे मैं हमेशा उनका समर्थन करूंगी।’ उन्होंने कहा, ‘मेरे दूसरे बेटे को हृदय से संबंधित समस्या थी, इसलिए मुझे लगता है कि निशानेबाजी उसके लिए सही होगी क्योंकि इसमें शारीरिक रूप से इतनी फिटनेस नहीं चाहिए होगी जितनी मुक्केबाजी में होती है।’ (एजेंसी)