तीसरे एशेज टेस्ट में इंग्लैंड को हराउंगा: क्लार्क

माइकल क्लार्क ने आज कहा कि ऑस्ट्रेलिया की हाल में लगातार हार से उनके टेस्ट करियर पर असर नहीं पड़ेगा। ऑस्ट्रेलिया लगातार दो हार के बाद कल से शुरू होने वाले तीसरे एशेज टेस्ट मैच में वापसी की कोशिश करेगा।

मैनचेस्टर : माइकल क्लार्क ने आज कहा कि ऑस्ट्रेलिया की हाल में लगातार हार से उनके टेस्ट करियर पर असर नहीं पड़ेगा। ऑस्ट्रेलिया लगातार दो हार के बाद कल से शुरू होने वाले तीसरे एशेज टेस्ट मैच में वापसी की कोशिश करेगा। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया को भारत दौरे में चारों टेस्ट मैच गंवाने पड़े थे। इस तरह से उसकी टीम लगातार छह टेस्ट मैच हार चुकी है। यह 1984 के बाद उसका सबसे बुरा प्रदर्शन है। तब वेस्टइंडीज की मजबूत टीम ने उसे लगातार पांच मैचों में हराया था। तत्कालीन कप्तान किम ह्यूज तब रो पड़े थे और उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। लेकिन क्लार्क ने कहा कि वह ह्यूज का अनुसरण नहीं करेंगे और अभी उनका टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का कोई इरादा नहीं है।
उन्होंने तीसरे टेस्ट मैच की पूर्व संध्या पर कहा, मैं निकट भविष्य में संन्यास नहीं ले रहा हूं। मैं भी किसी अन्य खिलाड़ी की तरह ही हूं। आपको निराशा हो सकती है यदि आप उतने रन नहीं बना पा रहे हों जितने आप बनाना चाहते है। टीम को सफलता नहीं मिलने पर आपको निराशा होती है लेकिन मैं समझता हूं कि इससे चुनौतियां अधिक रोमांचक हो जाती हैं।

क्लार्क ने कहा, मैं इस टीम को सफलता दिलाना चाहता हूं। मैं यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि मैं अच्छी तरह से टीम की अगुवाई कर रहा हूं और रन बना रहा हूं और मैं 32 साल का हूं 36 का नहीं। इसलिए इस (संन्यास) पर चर्चा के लिये अभी मेरे पास कुछ साल बचे हुए हैं। अपने करियर के दौरान पीठ दर्द से परेशान रहने वाले क्लार्क ने कहा, मैं अभी क्रिकेट छोड़ने के लिये तैयार नहीं हूं। मैं इस खेल को बहुत चाहता हूं और मेरा अभी इसे छोड़ने का कोई इरादा नहीं है। (एजेंसी)