रहाणे,साहा के अर्धशतक बेकार, 121 रन से हारा भारत-ए

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ब्यूरेन हैंड्रिक्स की तूफानी गेंदबाजी से दक्षिण अफ्रीका-ए ने दूसरे और अंतिम अनधिकृत टेस्ट के चौथे और अंतिम दिन मंगलवार को यहां भारत-ए को 121 रन से हराकर दो मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर कर दी।

प्रिटोरिया : बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ब्यूरेन हैंड्रिक्स की तूफानी गेंदबाजी से दक्षिण अफ्रीका-ए ने दूसरे और अंतिम अनधिकृत टेस्ट के चौथे और अंतिम दिन मंगलवार को यहां भारत-ए को 121 रन से हराकर दो मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर कर दी।
पहली पारी में 36 रन देकर पांच विकेट चटकाने वाले ब्यूरेन हैंड्रिक्स ने दूसरी पारी में 27 रन देकर छह विकेट हासिल किए जिससे भारत ए की टीम 307 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 66.2 ओवर में 185 रन पर ढेर हो गई। आफ स्पिनर साइमन हार्मर ने उनका अच्छा साथ निभाते हुए 79 रन देकर तीन विकेट चटकाए।
भारत ए की ओर से अजिंक्य रहाणे (86) और विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा (नाबाद 77) ने छठे विकेट के लिए 160 रन जोड़े जिससे टीम कुछ सम्मानजनक स्थिति में पहुंचने में सफल रही। इन दोनों ने उस समय छठे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की जब भारत 18 रन पर पांच विकेट गंवा चुका था। रहाणे और साहा के अलावा हालांकि भारत का कोई अन्य बल्लेबाज दोहरे अंक तक नहीं पहुंच पाया। भारत ने अपने पहले पांच विकेट 18 जबकि अंतिम पांच विकेट सात रन जोड़कर गंवा दिए।
अगर रहाणे और साहा की साझेदारी को हटा दिया जाए दो भारत ने 25 रन के भीतर अपने सभी विकेट गंवाए। भारत ए ने रस्टेनबर्ग में पहला ‘टेस्ट’ पारी और 13 रन से जीता था।
अंतिम दिन चाय के विश्राम के समय भारत की टीम पांच विकेट पर 177 रन बनाकर मजबूत स्थिति में दिख रही थी और उसे जीत के लिए अंतिम सत्र में 130 रन की दरकार थी। इस समय रहाणे 85 जबकि साहा 75 रन बनाकर खेल रहे थे। चाय के बाद हालांकि दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों ने 8 . 2 ओवर में भीतर भारत के बाकी पांच विकेट चटकाकर मैच जीत लिया।
चाय के बाद दूसरे ओवर में ही ब्यूरेन हैंड्रिक्स ने रहाणे को बोल्ड करके साहा के साथ उनकी शतकीय साझेदारी का अंत किया। उन्होंने 156 गेंद की अपनी पारी में 10 चौके मारे।
हार्मर ने स्टुअर्ट बिन्नी (04) जबकि ब्यूरेन हैंड्रिक्स ने परवेज रसूल (01) को पगबाधा आउट किया। हार्मर ने इसके बाद ईश्वर पांडे (00) और सिद्धार्थ कौल (00) को पवेलियन भेजकर दक्षिण अफ्रीका को जीत दिला दी।
भारत ने आज दिन की शुरुआत एक विकेट पर तीन रन से ही और उसने सुबह सिर्फ 15 रन जोड़कर जल्दी-जल्दी चार विकेट गंवा दिए। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ब्यूरेन हैंड्रिक्स ने सुबह के सत्र में तीन विकेट चटकाए। चाय तक वह 27 रन पर चार विकेट चटका चुके थे।
आज सुबह दो रन से आगे खेलने उतरे कप्तान चेतेश्वर पुजारा दिन की पहली गेंद पर ही जस्टिन ओनटोंग के सटीक निशाने का शिकार होकर रन आउट हुए।
कल सलामी बल्लेबाज मुरली विजय (02) को पवेलियन भेजने वाले ब्यूरेन हैंड्रिक्स ने इसके बाद नाइट वाचमैन शाहबाज नदीम (05), दिनेश कार्तिक (00) और अंबाती रायुडू (01) को पवेलियन भेजकर भारत के शीर्ष क्रम को ध्वस्त कर दिया। रहाणे और साहा ने इसके बाद पारी को संभाला। दोनों ने सतर्क होकर बल्लेबाजी की और सुनिश्चित किया कि टीम और विकेट नहीं गंवाए।
रहाणे ने काइल एबोट के ओवर में दो चौके लगाकर शुरुआत की। उन्होंने साइमन हार्मर के ओवर में भी दो चौके मारे और फिर इसी स्पिनर की गेंद पर एक रन के साथ 67 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।
साहा भी धीमी शुरुआत के बाद लय में आ गए। उन्होंने भी हार्मर पर दो चौके मारे और फिर ब्यूरेन हैंड्रिक्स पर लगातार दो चौकों के साथ 111 गेंद में अपने 50 रन पूरे किए। (एजेंसी)