Zee Rozgar Samachar

आईपीएल-6 : राजस्थान और वॉरियर्स के बीच मुकाबला

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के छठे संस्करण के 50वें मुकाबले में रविवार को सवाई मानसिंह स्टेडियम में 2008 के चैम्पियन राजस्थान रॉयल्स का सामना पुणे वॉरियर्स इंडिया के साथ होगा। वॉरियर्स जहां लगातार आठवीं हार टालना चाहेंगे वहीं रॉयल्स का लक्ष्य तालिका में दूसरे क्रम पर पहुंचना होगा।

जयपुर : इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के छठे संस्करण के 50वें मुकाबले में रविवार को सवाई मानसिंह स्टेडियम में 2008 के चैम्पियन राजस्थान रॉयल्स का सामना पुणे वॉरियर्स इंडिया के साथ होगा। वॉरियर्स जहां लगातार आठवीं हार टालना चाहेंगे वहीं रॉयल्स का लक्ष्य तालिका में दूसरे क्रम पर पहुंचना होगा।
आईपीएल-6 में जहां चेन्नई सुपर किंग्स ने लगातार सात जीत के साथ नया रिकार्ड कायम किया है वहीं वॉरियर्स लगातार आठवीं हार को टालते हुए एक नया रिकार्ड बनने से रोकना चाहेंगे। इस टीम को 11 में से नौ मैचों में हार मिली है।
वॉरियर्स ने 11 अप्रैल को अपने घरेलू मैदान पुणे के सुब्रत राय सहारा स्टेडियम में अंतिम बार जीत हासिल की थी। वह जीत उसे रॉयल्स के खिलाफ ही मिली थी। जाहिर तौर पर वॉरियर्स इसी टीम के खिलाफ फिर से जीत की पटरी पर लौटना चाहेंगे जबकि रॉयल्स का सीधा लक्ष्य पुणे में मिली हार का हिसाब बराबर करना होगा।
रॉयल्स ने अब तक 10 मैच खेले हैं और उसे छह में जीत मिली है। उसके खाते में 12 अंक हैं। वह तालिका में तीसरे क्रम पर है। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 14 अंकों के साथ दूसरे क्रम पर है। यह स्थान ही रॉयल्स का लक्ष्य होगा क्योंकि चेन्नई सुपर किंग्स (18 अंक) फिलहाल उसकी पहुंच से बहुत दूर हैं।
रॉयल्स के लिए पिछला मैच अच्छा नहीं रहा था। वह ईडन गार्डन्स मैदान पर मौजूदा चैम्पियन कोलकाता नाइट राइडर्स से हार गई थी। नाइट राइर्ड्स ने रॉयल्स को सस्ते में समेटा और फिर आठ विकेट से जीत हासिल की।
दूसरी ओर, वॉरियर्स ने अपने अंतिम मैच में रॉयल चैलेंजर्स के खिलाफ पुणे में ही सुधरा हुआ खेल दिखाया। इस टीम के खिलाफ अपना पहला मैच 130 रनों से गंवाने वाली वॉरियर्स ने काफी संघर्ष किया लेकिन इसके बावजूद वह 188 रनों के लक्ष्य से 17 रन दूर रह गई।
रोबिन उथप्पा ने अपनी 75 रनों की पारी से प्रभावित किया लेकिन कई अन्य अहम बल्लेबाजों की नाकामी और गेंदबाजों के खराब प्रदर्शन ने उसे हार पर मजबूर किया। अब वॉरियर्स को राहुल द्रविड़ की टीम के कुछ खास दिग्गजों को रोकते हुए बीते मैच जैसा प्रदर्शन करना होगा।
वैसे भी वॉरियर्स के पास अब खोने के लिए कुछ भी नहीं है। वह खिताबी दौड़ से बाहर हो चुकी है और अब उसका एकमात्र लक्ष्य अपनी प्रतिष्ठा के लिए एक के बाद एक जीत हासिल करना है। साथ ही साथ वह प्लेऑफ में पहुंचने के लिए खेल रहीं कुछ टीमों का काम भी खराब कर सकती है। इनमें रॉयल्स भी शामिल हैं। (एजेंसी)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.