आइंस्टीन,न्यूटन ने दिमाग को भटकने दिया

अध्ययनकर्ताओं का कहना है कि आइंस्टीन और न्यूटन सहित वैज्ञानिकों ने जो महत्वपूर्ण वैज्ञानिक सफलताएं अर्जित की उनमें से कुछ का कारण था कि उन वैज्ञानिकों ने अपनी बुद्धिमत्ता को कल्पना की उड़ान भरने से नहीं रोका।

लंदन : अध्ययनकर्ताओं का कहना है कि आइंस्टीन और न्यूटन सहित वैज्ञानिकों ने जो महत्वपूर्ण वैज्ञानिक सफलताएं अर्जित की उनमें से कुछ का कारण था कि उन वैज्ञानिकों ने अपनी बुद्धिमत्ता को कल्पना की उड़ान भरने से नहीं रोका।
कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, सांता बारबरा द्वारा कराये गए एक नए अध्ययन के अनुसार वैज्ञानिकों ने पाया कि सामान्य काम करने से हमे दिवास्वप्न देखने का मौका मिलता है। हमारे दिमाग में चलने वाले जटिल सवालों का हल खोजने में इन दिवास्वप्न की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।
टेलीग्राफ में प्रकाशित खबर के अनुसार अल्बर्ट आइंस्टीन और आइसेक न्यूटन जैसे वैज्ञानिकों ने जो महत्वपूर्ण खोज की हैं उनमें से कुछ इसलिए संभव हो पायी क्योंकि उन लोगों की बुद्धि ने अपने दिमाग को भटकने दिया।
अध्ययन में दिखाया गया कि जब लोगों ने काम को बीच में रोका और कोई आसान काम करने के बात उन्होंने कोई मुश्किल काम किया तो उनका प्रदर्शन करीब 40 प्रतिशत बढ़ गया।
अध्ययन के प्रमुख लेकर बेंजमिन बेयर्ड ने कहा कि कई प्रभावशाली वैज्ञानिक चिंतकों ने दावा किया कि उनके प्रेरणापद क्षण वे हुआ करते हैं जब विचारों या किसी ऐसी गतिविधि में संलग्न होते है। यह गतिविधियां या विचार उन समस्याओं से जुड़े नहीं होते है जिसके समाधान का वह प्रयास कर रहे होते हैं। (एजेंसी)