close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ओबामा चाहते थे कि लादेन पर चले मुकदमा

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा चाहते थे कि अमेरिकी नौसेना के सील कमांडो द्वारा पाकिस्तान स्थित छिपने के ठिकाने पर अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को जिंदा पकड़े जाने की स्थिति में उस पर अमेरिका की संघीय अदालत में मुकदमा चलाया जाए।

न्यूयार्क : अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा चाहते थे कि अमेरिकी नौसेना के सील कमांडो द्वारा पाकिस्तान स्थित छिपने के ठिकाने पर अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को जिंदा पकड़े जाने की स्थिति में उस पर अमेरिका की संघीय अदालत में मुकदमा चलाया जाए।
मार्क बोडेन की नई पुस्तक ‘द फिनिश’ में ओबामा की इस मंशा का खुलासा किया गया है। ओबामा चाहते थे कि यदि पिछले साल एबटाबाद स्थिति छिपने के ठिकाने से कई आतंकवादी हमलों का मुख्य षडयंत्रकर्ता ओसामा जिंदा पकड़ा जाता है तो उस पर अमेरिकी अदालत में मुकदमा चलाया जाए।
ओबामा ने कहा कि उन्हें यह बात महसूस हो रही थी कि उन्हें उसी तरह के विरोध का सामना करना पड़ सकता है जिसके चलते उन्हें 9/11 के मुख्य षडयंत्रकर्ता खालिद शेख मोहम्मद और चार अन्य षडयंत्रकर्ताओं के खिलाफ न्यूयार्क सिटी में चल रहे मुकदमे को छोड़ना पड़ा था।
समाचार पत्र ‘द न्यू डेली न्यूज’ की खबर के अनुसार ओबामा ने पुस्तक में कहा, लेकिन सही बताऊं तो मेरा मानना था कि यदि हम उसे पकड़ लेते हैं तो मैं यहां राजनीतिक रूप से मजबूत स्थिति में आज जाऊंगा। मैं यह दलील दे सकूंगा कि उपयुक्त कार्रवाई और कानून अल कायदा के खिलाफ हमारा सर्वोत्तम हथियार होगा और उसे (ओसामा) को शहीद की तरह पेश किए जाने से रोका जा सकेगा।
ओबामा ने यह बात मार्क से कही जिनकी किताब अगले महीने बाजार में आने वाली है। पुस्तक के अंश वैनिटी फेयर पत्रिका में छपे हैं। (एजेंसी)