ओसामा का परिवार न्यायिक हिरासत में

अल कायदा के पूर्व सरगना ओसामा बिन लादेन की तीन विधवाओं समेत उसके परिवार के अन्य सदस्यों को पाकिस्तान की एक अदालत ने नौ दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

 

इस्लामाबाद : अल कायदा के पूर्व सरगना ओसामा बिन लादेन की तीन विधवाओं समेत उसके परिवार के अन्य सदस्यों को पाकिस्तान की एक अदालत ने नौ दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

 

लादेन की सबसे युवा पत्नी यमनी नागरिक अमाल अब्दुल्लाफतह और उसके पांच बच्चों को कल न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

 

अब्दुल्लाफतह पिछले साल मई में ऐबटाबाद परिसर में अमेरिकी विशेष बलों द्वारा की गयी कार्रवाई के समय लादेन के साथ ही थी।

 

उसके भाई जकारया अहमद अब्दुल्लाफतह ने अपनी बहन तथा उसके बच्चों के मामले की पैरवी करने के लिए वकील मुहम्मद आमिर को अपना वकील किया है।

 

सरकारी सूत्रों ने बताया कि लादेन के परिजनों के खिलाफ मामले की सुनवाई इस्लामाबाद में उसी घर में होगी जहां उन्हें रखा गया है।

 

इस्लामाबाद के मुख्य आयुक्त तारीक महमूद पीरजादा ने हाल ही में इस घर को जेल घोषित कर दिया था।
सूत्रों ने बताया कि लादेन के परिजनों को सुरक्षा कारणों के चलते दीवानी अदालत में नहीं लाया जाएगा।
दीवानी अदालत के जज शाहरूख आरजूमन ने उस घर का दौरा किया जहां मामले की सुनवाई होगी।
लादेन के परिजनों पर पाकिस्तान में गैर कानूनी तरीके से प्रवेश करने और रहने को लेकर मामला दर्ज किया गया है। उन्हें चार मार्च को इस्लामाबाद लाया गया था।

 

गिरफ्तार किए गए लोगों में लादेन के परिवार के 14 सदस्य हैं जिनमें उसकी तीन विधवाएं और आठ बच्चे भी शामिल हैं।  (एजेंसी)