close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ओसामा ने वजीरिस्तान में किया था रात्रिभोज

ओसामा बिन लादेन के बारे में यह मान लिया गया है कि वह अपनी मौत से पांच साल पहले से ऐबटाबाद के मकान में छिपा हुआ था, लेकिन अब इससे उलट एक चौंकाने वाली सामने आई है।

इस्लामाबाद : ओसामा बिन लादेन के बारे में यह मान लिया गया है कि वह अपनी मौत से पांच साल पहले से ऐबटाबाद के मकान में छिपा हुआ था, लेकिन अब इससे उलट एक चौंकाने वाली सामने आई है। नयी जानकारी यह है कि मारे जाने से एक साल पहले ओसामा वजीरिस्तान में आयोजित एक रात्रिभोज में शामिल हुआ था।

 

बीबीसी के मुताबिक 54 साल के अलकायदा सरगना का नाम 2010 की गर्मियों में आयोजित रात्रिभोज के मेहमानों की सूची में शामिल था। रात्रिभोज का आयोजन वजीस्तिान के दो व्यक्तियों ने किया था। इस आयोजन से हफ्तों पहले एक कबायली परिवार के छह लोगों को मेहमानों के बारे में एलर्ट कर दिया गया था। मेहमानों की पहचान उस वक्त नहीं बताई गई थी। इन लोगों से कहा गया था कि यहां कोई ‘महत्वपूर्ण व्यक्ति’ आ रहा है। खबर के मुताबिक इन कबायलियों को मेहमानों के नाम नहीं दिए गए थे और इन्हें यह भी नहीं बताया गया था कि मेहमानों के आने का वक्त क्या है। रात के करीब 11 बजे एक दर्जन एसयूवी पहुंचीं। उस वक्त इलाके के लोग सो रहे थे।

 

वजीरिस्तान के इस कबायली परिवार के एक व्यक्ति ने कहा कि एक दर्जन से अधिक बड़े वाहन परिसर में दाखिल हुए थे।.. वे अलग-अलग दिशाओं से आती दिखाई पड़े थे। उसने बताया कि एक एसयूवी में से एक लंबा व्यक्ति बाहर आया और उसने सफेद रंग की पगड़ी पहन रखी थी। रिपोर्ट के मुताबिक, वहां मौजूद लोगों को अपनी आखों पर यकीन नहीं हो रहा था। उनके सामने खड़ा शख्स कोई और नहीं, बल्कि ओसामा बिन लादेन था। यानी दुनिया सबसे खूंखार आतंकवादी।

 

कबायली परिवार के सदस्य ने कहा कि हम सभी हैरान रह गए। वह आखिरी शख्स था, जो वहां पहुंचा था। मौके पर पहुंचने के बाद ओसामा अपने लिए तैयार एक कमरे में दाखिल हुआ और उसने अपने कुछ साथियों के साथ खाना खाया। यह घटना उसके मारे जाने से ठीक साल पहले की है। पाकिस्तान के ऐबटाबाद में पिछले साल दो मई को अमेरिकी सुरक्षा बलों की कार्रवाई में ओसामा मारा गया था।

(एजेंसी)